रायपुर। लोकसभा चुनाव से पहले प्रदेश में शराब पर सियासत तेज हो गई है। भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस सरकार पर शराब की अवैध बिक्री, प्रिंट रेट से अधिक मूल्य में शराब विक्रय कर लोकसभा चुनाव के लिए फंड जुटाने का आरोप लगाया है।

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश प्रवक्ता व विधायक शिवरतन शर्मा ने एकात्म परिसर में पत्रकारों से चर्चा में कहा कि सरकार अवैध तरीके से ज्यादा दाम पर शराब बेचकर लोकसभा चुनव के लिए हर महीने 200 करोड़ स्र्पये जुटा रही है। प्रदेश में शराब को लेकर जो रेट चार्ट है, उससे अधिक मूल्यों पर शराब बेच कर सरकार अंतर की राशि कांग्रेस पार्टी के लिए एकत्रित कर रही है।

शर्मा ने कहा कि शराबबंदी का झूठा वादा करके सत्ता में आई भूपेश बघेल की यह सरकार वादाखिलाफी करते हुए शराब के अलग-अलग ब्रांड पर तय मूल्य से अधिक राशि वसूले का काम कर रही है। सरकार ने ही नियम बनाया है कि एक व्यक्ति को 4 बॉटल से अधिक शराब नहीं देंगे और सरकार के संरक्षण में ही कोचियों को पेटी के पेटी शराब देकर उनसे अवैध कमाई कर कांग्रेस पार्टी की लोकसभा चुनाव में फंडिंग करने बढ़ावा दे रहे हैं। आज आप प्रदेश के किसी भी दुकान में जाकर इन तमाम तथ्यों की जांच कर सकते हैं। शराब के तमाम ब्रांड तय मूल्यों से अधिक में आपको प्राप्त होंगे। गांव-गांव में कोचियों के माध्यम से शराब की उपलब्धता सहज उपलब्ध है।


शराब दुकानों पर 24 घंटे चालू रहेंगे सीसीटीवी कैमरा

लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर शराब और अन्य नशीले पदार्थो के अवैध कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए आबकारी विभाग ने अपने सभी मैदानी अधिकारियों को सतर्क कर दिया है। आबकारी आयुक्त डॉ. कमलप्रीत सिंह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सभी जिला आबकारी अधिकारियों की बैठक ली। शराब के अवैध परिवहन पर रोक लगाने, आबकारी नियंत्रण कक्ष 24 घंटे चालू रखने और शराब दुकानों पर 24 घंटे सीसीटीवी कैमरा चालू रखने का निर्देश दिया।

राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष आबकारी भवन परिसर स्थित मार्केटिंग कार्पोरेशन में शुरू किया गया है, जिसका टोल फ्री नम्बर 14405 है। अंतरराज्यीय सीमाओं पर कड़ी निगरानी रखी जाए। अवैध शराब रोकने के लिए अस्थायी चेक पोस्ट बनाए जाएं। प्रत्येक चेक पोस्ट में वीडियो रिकार्डिंग या सीसीटीवी कैमरे लगाएं जाएं। सभी आबकारी केन्द्रों में स्थापित तीन हजार 739 कैमरों को हमेशा चालू हालत में रखने और उनकी रिकार्डिंग का बैकअप रखने का निर्देश दिया।


अवैध शराब के 988 प्रकरण दर्ज

विभाग ने फरवरी 2019 में अवैध शराब के 988 प्रकरण दर्ज किए गए इसमें 1159 लीटर मदिरा जप्त की गई है और आबकारी अधिनियम की विभिन्न् धाराओं के तहत 981 लोगों को गिरफ्तार किया गया। रायपुर, बिलासपुर और बस्तर के संभागीय उड़नदस्तों के अलावा लोकसभा चुनाव के दौरान दुर्ग और सरगुजा में अस्थायी उड़नदस्ता तैयार किया गया है।