रायपुर। प्रदेश में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसल के नुकसान की जांच करने के लिए कांग्रेस के दस नेताओं की कमेटी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा और किसानों व ग्रामीणों से मुलाकात करके वस्तुस्थिति जानेगी।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कमेटी को भेजा है। कमेटी रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस कमेटी को देगी।

सूखे की मार के बाद अब किसानों को रबी फसल का नुकसान झेलना पड़ा है। प्राकृतिक आपदा से किसानों को कितना नुकसान हुआ है, यह कांग्रेस नेताओं की कमेटी जानने की कोशिश करेगी। कमेटी के संयोजक पूर्व नेता-प्रतिपक्ष रविंद्र चौबे बनाए गए हैं।

दुर्ग के सांसद ताम्रध्वज साहू, पूर्व मंत्री मोहम्मद अकबर, पीसीसी सचिव प्रवीण वर्मा व विजय बघेल, जिलाध्यक्ष बेमेतरा आशीष छाबड़ा, जिलाध्यक्ष कवर्धा महेश चंद्रवंशी, जिलाध्यक्ष किसान कांग्रेस कवर्धा रामकृष्ण साहू, जिलाध्यक्ष किसान कांग्रेस बेमेतरा झम्मन दास बघेल और पूर्व विधानसभा प्रत्याश्ाी लालजी चंद्रवंशी को कमेटी का सदस्य बनाया गया है।

कमेटी में उन जिलों के अध्यक्षों और किसान कांग्रेस अध्यक्षों को रखा गया है, जहां ज्यादा नुकसान की जानकारी मिली है। यह कमेटी फसल नुकसान के फोटोग्राफ्स भी प्रदेश कांग्रेस कमेटी को उपलब्ध कराएगी।


जोगी ने कर्ज माफ और मुआवजे की मांग की

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष अजीत जोगी ने एक हफ्ते से हो रही बारिश, ओलावृष्टि और आंधी के कारण किसानों हुए भारी नुकसान हुआ है। कर्ज में दबे किसान फिर से आत्मघाती कदम न उठाएं, इसकी जवाबदारी राज्य सरकार की है। जोगी ने मांग की है कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह तत्काल मंत्रिमंडल की बैठक बुलाएं। अधिकारियों की टीम खेतों में नुकसान का मूल्यांकन कर तत्काल कर्ज माफ और मुआवजे की घोषणा करे।