रायपुर । रेलवे मंडल ने सिलयारी स्टेशन पर रेलवे ट्रेन में नॉन इंटरकॉलिंग का काम शुरू किया है। इससे कई लोकल ट्रेनें प्रभावित हुई हैं। वहीं लोकल यात्रा करने वालों को सोमवार को रायपुर रेलवे स्टेशन से गंतव्य तक जाने के लिए ट्रेन का इंतजार करना पड़ा। लोकल यात्रियों की सुविधा के लिए अमृतसर- बिलासपुर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस को 6 से 13 मई तक रायपुर से बिलासपुर तक पैसेंजर बनाकर चलाया जा रहा है। वहीं डोंगरगढ़-कोरबा (मेमू) से यात्रा करने वाले मुसाफिरों ने बताया पहले कई ट्रेनें आसानी से मिल जाती थीं, मगर अब ठसाठस भरी लोकल ट्रेन की जनरल बोगी में जगह नहीं मिल रही है।

मेमू लोकल से यात्रा

सुबह से लेकर शाम तक कई ट्रेनें प्रभावित होने से रायपुर-कोरबा,नागपुर- बिलासपुर,गोंदिया-झारसुगुड़ा से यात्रा करने वाले लोगों को परेशान होना पड़ा। सुबह 9 बजे से लेकर दोपहर 1 बजे तक पूछताछ काउंटर पर गंतव्य की ओर जाने के लिए ट्रेनों की जानकारी लेने यात्रियों की भीड़ रही। इस बीच रेलवे ने रद्द की गई ट्रेनों को लेकर समयांतराल में उद्घोषणा करवाई।

इंटरसिटी रायपुर तक

रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार नागपुर से बिलासपुर तक चलने वाली इंटरसिटी अब रायपुर तक ही आवाजाही करेगी। इससे अब रायपुर से यात्रा करने वालों की यात्रा ही पूरी हो सकेगी। वहीं बिलासपुर तक जाने वालों को पैंसेजर का इंतजार करना पड़ेगा। ट्रेनें रद्द होने से रेलवे स्टेशन पर दिनभर भीड़ के बीच लोगों को अपनी यात्रा पूरी करने के लिए पैंसेजर का इंतजार करना पड़ा।

कल तक की परेशानी

रायपुर से तिल्दा तक यात्रा करने वाले मुजाहिद हैदरी ने बताया कि पहले झारसुगुड़ा से यात्रा करता था, मगर अब गर्मी में रेलवे ने परेशानी बढ़ा दी। इसके चलते लोकल यात्रा करने वालों को ट्रेन का इंतजार करने के अलावा कोई रास्ता नहीं है। अभी कल तक की परेशानी और रहेगी।

गर्मी और भीड़ से त्रस्त

बिलासपुर से भिलाई तक रोज यात्रा करने वाले अमृत सिंह ने बताया कि लोकल ट्रेनें ज्यादा रद्द की गई हैं। इसे देखते हुए रेलवे को लोकल ट्रेन में जनरल बोगी बढ़ानी चाहिए, क्योंकि ठसाठस भरी जनरल बोगी में पैर रखने के लिए भी जगह नहीं है। लोग गर्मी और भीड़ से त्रस्त हैं।