रायपुर। देश में 70 फीसद लोग कमर दर्द का शिकार हैं। कारण है दुर्घटना या एक स्थिति में बैठ कर ऑफिस में काम करना। रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में विशेषज्ञों ने इसकी जानकारी दी। देश के प्रमुख स्पाइन सर्जरी विशेषज्ञों ने स्पाइन सर्जरी और मरीजों की बढ़ रही संख्या पर चर्चा की।

बतौर विशेषज्ञ मुंबई से पहुंचे डॉ. मैलकम पासकुंजी ने बताया कि देश में 70 फीसद लोग कमर दर्द के शिकार हैं। तीन कारणों से रीढ़ की हड्डी (स्पाइन) में दिक्कत आ रही है। पहला-एक स्थिति में बैठे रहना, दूसरा- किसी दुर्घटना में रीढ़ की हड्डी में चोट लगना, तीसरा- भारी वजन उठाना।

एक स्थिति में बैठने वालों को होने वाले दर्द से एक्सरसाइज से छुटकारा पाया जा सकता है। रोजाना वो 20 बार दोनों हाथों को झुका कर पैर को छुएं तो कमर दर्द से निजात पाई जा सकती है। दुर्घटना और भारी वजन उठाने से होने वाली समस्या का इलाज ऑपरेशन ही है। हालांकि तकलीफ ज्यादा होने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

आधे घंटे में हो जाता है ऑपरेशन

डॉ. मैलकम ने बताया कि अब रीढ़ की हड्डी के ऑपरेशन में तकलीफ गुजरे जमाने की बात हो गई है। पहले नसों को हटा कर ऑपरेशन किया जाता था, लेकिन अब लेजर से स्पाइन सर्जरी हो जाती है। ऑपरेशन थिएटर में मरीज सर्जरी के समय आराम से वीडियो गेम या फिर भजन सुन सकता है। साथ ही सर्जरी के आधे घंटे बाद पैदल चल कर घर जा सकता है।

रीढ़ की हड्डी में परेशानी के कारण

- एक स्थिति में बैठकर काम -

-किसी हिस्से में चोट लगना

- रीढ़ की हड्डी से जुड़ी नसों का दब जाना

ऐसे पाएं निजात (नसों के दबने और चोट को छोड़ कर)

- कमर दर्द रोजाना होता है तो आप झुककर रोजाना व्यायाम करें

- एक स्थिति में बैठने से, हड्डी हो जाती है स्थिर

- 40 की उम्र के बाद महिलाओं का स्ट्रोजीन कम हो जाता है, रोजाना हार्मोन बढ़ाने की लें दवाई

- 40 की उम्र के बाद पुरुष कैल्शियम की दवाई नियमित लें।