रायपुर। कहते हैं कि नाम में क्या रखा है, लेकिन जनाब आपको बता दें कि नाम में ही सब कुछ रखा है। जी हां, आपको कुछ ऐसे नाम बताते हैं जो अजीबो गरीब हैं, लेकिन लोगों को काफी पसंद आ रहे हैं। दुकानों के संचालक अनोखा नाम देकर ग्राहकों को आकर्षित कर रहे हैं। कोई खराब से खराब चाय लिख कर चाय की दुकान चला रहा है तो कोई दूल्हे राजा नाम की दुकान में सभी वर्ग के लोगों के कपड़े बेच रहा है।

इससे भी ज्यादा रोचक है तपरी नाम से दुकान चलाना। तपरी तो मस्ती- मजाक में कह दिया जाता है। लेकिन इस दुकान में लोग चाय की चुस्की ले रहे हैं। नोनी यानी छोटी बच्ची। प्रदेश में लगभग सभी लोग इसे जानते हैं। इस नाम से कपड़े की दुकान चल रही है। यहां छोटी बच्चियों, लड़कियों और महिलाओं के कपड़े मिल रहे हैं।

खराब से खराब चाय नाम ही अनोखा

आश्रम चौक के पास सुरेन्द्र तांडी चाय बेचते हैं। उन्होंने अपनी दुकान का नाम खराब से खराब चाय दुकान रखा है। नईदुनिया टीम ने यह नाम रखने पर उनसे बात की तो उन्होंने बताया-कितनी भी अच्छी चाय दो, लोग खराब ही बोलते थे। इसलिए मैंने यह नाम रख दिया। अब लोग मजे से चाय पीते हैं। कोई भी स्वाद पर सवाल नहीं उठाता।

टावेल से लेकर धोती तक सब दूल्हे राजा में

लाखे नगर में दूल्हे राजा कपड़े की दुकान है। नाम देख कर लगता है कि यहां केवल दूल्हे के कपड़े मिलते हैं, लेकिन वहां टावेल, धोती से लेकर सब कुछ मिलता है। दुकान संचालक संतोष सिंह का कहना है कि नाम कुछ अनोखा होना चाहिए यह सोचकर दूल्हे राजा रखा। लोग आ रहे हैं, उन्हें समझाना पड़ता है कि सभी प्रकार के कपड़े यहां मिलते हैं।

तपरी में चाय की चुस्की

तेलीबांधा स्थित तपरी मस्ती-मजाक की जगह नहीं है, बल्कि चाय की दुकान है। यहां रोजाना युवा चाय की चुस्की लेते हैं। इस नाम को भी खासे पसंद कर रहे हैं। दुकान संचालक इरफान अहमद का कहना है कि लोग इस नाम को खासे पसंद कर रहे हैं।

नोनी बच्ची नहीं दुकान है बाबू

महोबा बाजार में नोनी नाम से कपड़े की दुकान है। यहां नन्हीं बच्चियों से लेकर उम्रदराज महिलाओं तक के लिए कपड़े मिलते हैं। दुकान संचालिका आहिना मिश्रा का कहना है कि लड़कियों और महिलाओं के कपड़ों की दुकान खोलनी थी। इसके लिए मुझे नोनी नाम ही कुछ अलग लगा और पसंद आया।