रायपुर। स्वास्थ्य विभाग अब ग्रामीणों को स्वास्थ्य से संबंधित फिल्म से दिखाकर जागरूक करेगा। स्वास्थ्य विभाग ग्रामीण अंचलों में प्रोजेक्टर के माध्यम से फिल्म दिखाएगा। बुधवार को निजी होटल में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अजय चंद्राकर ने डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से संवाद कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

यह कार्यक्रम राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन और यूएसएड तथा डिजिटल ग्रीन के सहयोग से आयोजित किया गया। चंद्राकर ने इस मौके पर स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली राजनांदगांव जिले की मितानिन सोहनी बंजारे, पोमिन देवांगन, पार्वती मांडवी, शांति पटौती और हेमलता साहू को सम्मानित किया।

स्वास्थ्य सचिव निहारिका सिंह बारिक ने बताया कि आडियो-वीडियो विजुअल लोगों तक संदेश पहुंचाने के लिए बहुत ही प्रभावी माध्यम है। स्वास्थ्य सेवाएं अंविश्वास से भी घिरी हुई हैं। डिजिटल माध्यमों से जागरूकता संदेश पहुंचने से लोगों में स्वास्थ्य के प्रति और अकि जागरूकता बढ़ेगी।

उन्होंने बताया कि पिको प्रोजेक्टर के माध्यम से ग्रामीणों द्वारा ही निर्मित वीडियो फिल्म ग्रामीणों को ही दिखाई जाएगी। इस वीडियो फिल्म में स्थानीय लोग ही अभिनय करेंगे, जिससे यहां के भाषा और संदेश प्रभावी रूप से ग्रामीणों तक पहुंचेंगे, जिससे स्वास्थ्य के प्रति उनके व्यवहार में परिवर्तन लाने में सहायक होगा। बारिक ने बताया कि पहले यह पॉयलट प्रोजेक्ट के रूप में राजनांदगांव जिले में संचालित हो रहा था। अब इस कार्यक्रम को कवर्ध, धमतरी, बेमतरा और बलौदाबाजार जिले में भी विस्तार दिया जाएगा।