रायपुर। विधानसभा के विशेष सत्र में बुधवार को संसदीय कार्य व स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर विपक्ष के निशाने पर रहे। उप नेता प्रतिपक्ष कवासी लखमा और कांग्रेस सदस्य व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल से लेकर अस्र्ण वोरा ने उन पर निशाना साधा। लखमा ने चंद्राकर को मंत्रिमंडल से बाहर करने तक की मांग कर दी।

बैलगाड़ी से विधानसभा आ रहे कांग्रेसियों को रोके जाने को लेकर सदन में हंगामा हुआ। बघेल ने सदन में पहुंचते यह मुद्दा उठाया। बैलगाड़ी से विधानसभा आने के पक्ष में तर्क देते हुए बघेल ने कहा कि जिन अटल जी को सदन में कल श्रद्धांजलि दी वे भी एक बार बैलगाड़ी से संसद गए थे।

उनकी उस फोटो आज तक आप लोग (भाजपा) उपयोग कर रहे हैं। इस पर मंत्री चंद्राकर ने कुछ टिप्पणी की। इससे नाराज बघेल ने उनसे कहा कि श्रद्धांजलि सभा में टेबल ठोक कर ठहाके लगाते हुए अटल जी के प्रति आपकी श्रद्धा व संवेदनशीलता पूरे देश ने देखी है। इसके बाद चंद्राकर बिना कुछ बोले बैठ गए।

उपनेता प्रतिपक्ष लखमा ने अपने भाषण के दौरान कहा कि अटल जी पूरे देश के नेता थे, ऐसे महापुस्र्ष की श्रद्धांजलि सभा में मंत्री ठहाके लगाते हैं, ऐसे मंत्री को तो तुरंत मंत्रिमंडल से निकाल देना चाहिए, पद से हटा देना चाहिए।


डेंगू से हो रही मौत, मंत्री पहले उसकी चिंता कर लें : वोरा

मंत्री चंद्राकर ने कांग्रेसी सदस्यों पर टिप्पणी करते पूछा कि बैल बिदक गया था कहीं कोई कैजुअल्टी तो नहीं हुई, मैं स्वास्थ्य मंत्री हूं, इसलिए जानना आवश्‍यक है। इस पर जवाबी हमला करते हुए अस्र्ण वोरा ने कहा कि मंत्री जी दुर्ग में डेंगू से 42 मौतें हो गई हैं, चार हजार लोग भर्ती हैं, आप उनकी चिंता करिए, हमारी चिंता करने की जरूरत नहीं है।