हरिकिशन शर्मा, नई दिल्ली/रायपुर । आयकरदाताओं का आधार बढ़ाने की सरकार की कोशिशें धीरे-धीरे रंग ला रही हैं। इसका नतीजा यह है कि पिछड़े राज्यों में आयकर रिटर्न में जोरदार उछाल आया है। हाल यह है कि देशभर में पिछले साल के मुकाबले चालू वित्त वर्ष में फरवरी तक 29.66 प्रतिशत अधिक आयकर रिटर्न दाखिल हुए हैं।

विकास के मामले में पिछड़े राज्यों में तो ज्यादा वृद्धि हुई है। आयकर विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2018-19 में 28 फरवरी तक देश में कुल 6.39 आयकर रिटर्न दाखिल हुए हैं जबकि पिछले साल समान अवधि में यह आंकड़ा 4.93 करोड़ था।

इस तरह एक साल के भीतर इसमें 29.66 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। सबसे ज्यादा आयकर रिटर्न महाराष्ट्र में दाखिल हुए हैं। दूसरे नंबर पर गुजरात व तीसरे नंबर पर उत्तर प्रदेश है। छत्तीसगढ़ में चालू वित्त वर्ष में फरवरी के अंत तक पिछले साल समान अवधि के मुकाबले 71.34 प्रतिशत अधिक आयकर रिटर्न दाखिल हुए हैं।