रायपुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

पटवारियों के लिए अब हर सोमवार और मंगलवार को मुख्यालयों में रहना अनिवार्य कर दिया गया है। यदि पटवारियों के पास दो से तीन गांव हैं तो सप्ताह में दो दिन सभी गांवों में उपस्थिति देंगे। कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने राजस्व अधिकारियों को राजस्व प्रकरणों में अनावश्यक रूप से पेशी न बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। अधिकारियों की मासिक समीक्षा बैठक में डॉ. भारतीदासन ने कहा कि शासन की मंशानुरूप आमजन से जुड़ी सेवाएं निर्धारित समय पर लोगों को मिलें, इसे प्राथमिकता से सुनिश्चित किया जाए। सभी राजस्व अधिकारी अपने न्यायालयों में लंबित प्रकरणों की नियमित रूप से समीक्षा कर उनका शीघ्र निराकरण सुनिश्चित करें। राजस्व न्यायालय में प्रस्तुत सभी प्रकरण दर्ज हो। सभी एसडीएम अपने अधीनस्थ तहसील और नायब तहसील कार्यालयों का नियमित निरीक्षण कर वहां लंबित प्रकरणों की समीक्षा करें।

नामांतरण और सीमांकन में देरी की तो होगी कार्रवाई

कलेक्टर ने न्यायालयवार लंबित, नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन, बटांकन और राजस्व वसूली के प्रकरणों की समीक्षा करते हुए उनका शीघ्र निराकरण सुनिश्चित करने को कहा है। उन्होंने कहा कि तहसील स्तर पर राजस्व निरीक्षक और पटवारियों की नियमित रूप से बैठक लेकर राजस्व प्रकरणों के निराकरण में तेजी लाएं। राजस्व निरीक्षक और पटवारियों को साप्ताहिक लक्ष्य दिया जाए। प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की जायेगी। कलेक्टर ने नजूल नवीनीकरण, शहरी आबादी पट्टा और अतिक्रमण के प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कहा कि किसी भी स्थिति में उनके क्षेत्र में शासकीय भूमि में नया अतिक्रमण नहीं होना चाहिए। डॉ. भारतीदासन ने कहा कि चालू मानसून के दौरान जिले में खाली पड़े बड़े बड़े शासकीय भू-खंडों में सघन पौधरोपण किया जाएगा। उन्होंने इसके लिए सभी एसडीएम को भूमि का चयन करने को कहा है।

-----