रायपुर। छत्तीसगढ़ समेत देश के अधिकांश हिस्सों में इन दिनों सूखे जैसे हालात बने हुए हैं। इस साल भीषण गर्मी ने नींद उड़ाकर रख दी है। इंतजार जून में बारिश का था। मगर मौसम विभाग के जारी सभी पूर्वानुमान फिलहाल धराशाई हो गए हैं। छत्तीसगढ़ में सामान्य दिनों में 10 जून तक मानसून की दस्तक हो जाती है, मगर 20 जून आ चुका है।

मानसून अभी भी 1200 किमी दूर गंगटोक में ही स्थिर है। 48 घंटे से इसमें कोई गति नहीं आई है। हालात अगर यही रहे तो मानसून 23 जून तक छत्तीसगढ़ में पहुंचेगा। यह 10 साल में सबसे अधिक विलंब से होगा। कुछ मिमी बारिश से राहत जरूर थी, मगर अब पारा फिर चढ़ने लगा है। जून के 20वें दिन 'लू" अलर्ट जारी कर दिया गया है।

इस साल मानसून में देरी की वजह 'वायु" तूफान रहा, मगर अब तो वह भी गुजर चुका है। अब तक जितनी भी बारिश हुई है, वह सिर्फ स्थानीय सिस्टम या द्रोणिका की वजह से हुई।

नईदुनिया के पास मौजूद आंकड़े गवाह हैं कि छत्तीसगढ़ में साल 2005 में मानसून 24 जून, 2009 में 26 जून को पहुंचा था। बाकी सालों में यह 19 जून के अंदर पहुंच चुका था। रायपुर में बुधवार की सुबह से ही तेज धूप खिली रही। दोपहर को सूरज अपने पूरे रंग में दिखा। आसमान में कुछ समय के लिए बादल आए, मगर ये भी उड़न-छू हो गए। अब सब जगह त्राहि-त्राहि मची हुई है। वैसे भी इस साल रायपुर ने पेयजल के लिए बहुत संघर्ष किया है।

शहरों का तापमान

जिला- अधिकतम

रायपुर- 40.7 (6)

बिलासपुर- 41.5 (3)

पेंड्रा- 36.0 (1)

अंबिकापुर- 37.8 (3)

जगदलपुर- 36.1 (4)

दुर्ग- 40.0 (3)

राजनांदगांव- 40.5 (8)

रायपुर में सिर्फ 16.6 मिमी बारिश

जून 2018 में रायपुर में कुल 167.4 मिमी बारिश हो चुकी थी। अभी स्थिति यह है कि आंकड़ा 17 मिमी ही पार नहीं हुआ है। 2009 में 32.7 मिमी बारिश हुई थी, यही इस सीजन में सबसे कम आंकड़ा है।

प्रदेश के इन जिलों में 'लू" अलर्ट जारी- रायपुर, जहां तापमान सामान्य से छह डिग्री अधिक है, माना, जहां पारा छह डिग्री अधिक है और राजनांदगांव, जहां पारा आठ डिग्री अधिक बना हुआ है। बिलासपुर और दुर्ग भी 40 डिग्री से अधिक पर तापमान है।

इनका कहना है

मानसून को लेकर अभी कुछ भी कहना मुश्किल हो रहा है। फिलहाल यह गंगटोक में ही अटका हुआ है, उसे आगे बढ़ने के लिए अनुकूल वातावरण नहीं मिल रहा है। बंगाल की खाड़ी में सिस्टम बनेगा तो ही यह आगे बढ़ सकता है- एचपी चंद्रा, वरिष्ठ मौसम वैज्ञानी, मौसम विज्ञान केंद्र, लालपुर