रायपुर। रायपुर क्राइम ब्रांच के बाद अब नकली नोट मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) करेगी। एनआइए की ओर से एक पत्र रायपुर एसएसपी को मंगलवार को मिला है। इस पत्र में अब तक की जांच, आरोपियों की गिरफ्तारी और जब्ती पत्रक आदि की पूरी जानकारी तलब करने के साथ ही जल्द ही एक टीम रायपुर भेजकर इसकी जांच करने की जानकारी दी गई है। अफसरों ने पत्र मिलने की पुष्टि की है।

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के न्यू राजेंद्रनगर इलाके के अमलाडीह स्थित रजत प्राइम कॉम्प्लेक्स के फ्लैट नंबर 708 में निखिल सिंह और उसकी पत्नी पूनम अग्रवाल द्वारा कलर प्रिंटिंग मशीन लगाकर 5.60 करोड़ के दो-दो हजार के नकली नोट छापने का खुलासा दो दिन पहले पुलिस ने छापामारी में किया था। आरोपी दंपती जेल भेजे जा चुके हैं। अफसरों का कहना है कि चूंकि मामला भारतीय मुद्रा से जुड़ा हुआ है, लिहाजा एनआइए इसे गंभीरता से लेते हुए मामले से जुड़े हर पहलू की तफ्तीश करेगी।

नासिक में होगी नकली करेंसी की जांच

पुलिस सूत्रों ने बताया कि दंपती के कब्जे से जब्त नकली करेंसी को जांच के लिए नासिक की नोट कंपनी (एसपीएमसीआइएल) और एनपीएल को एक-दो दिनों के भीतर भेज दिया जाएगा। वहां से जांच रिपोर्ट आने के बाद कोर्ट में चालान पेश करने की तैयारी की जाएगी।