रायपुर। छत्तीसगढ़ अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) की गड़बड़ी की शिकायत होने पर भी कार्रवाई नहीं हुई है। सीएजी रिपोर्ट में क्रेडा की गड़बड़ी उजागर होने के बाद एक बार फिर कांग्रेस ने मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि क्रेडा में चल रही करोड़ों की धांधली की शिकायत की गई, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक क्रेडा के भ्रष्टाचार की शिकायत की थी।

कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री शैलेष नितिन त्रिवेदी ने आरोप लगाया कि क्रेडा में अप्रैल से जून के बीच विभिन्न कामों के लिए रेट कांट्रेक्ट होता है। विभाग में रिश्तेदारों, पार्टनरों और करीबी लोगों को टेंडर दिया जाता है। कई बार तो पूर्ण पात्रता नहीं रखने वाले ठेकेदारों को भी काम दिया गया है। कांग्रेस ने पिछले पांच साल में क्रेडा में कराए गए कार्यों की जांच की मांग की है। श्री त्रिवेदी ने आरोप लगाया कि चुनिंदा मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों को पैनल, इन्वर्टर, बैटरी, पंप की सप्लाई का ठेका दिया जाता है। क्रेडा के आला अधिकारियों के रिश्तेदारों को काम दिया जाता है और विभागीय अधिकारी इसकी मॉनिटरिंग भी नहीं करते हैं।