रायपुर। छत्तीसगढ़ में नए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर मचे घमासान के बीच मंत्री टीएस सिंहदेव ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बस्तर का आदिवासी नेता अगला प्रदेश अध्यक्ष होगा और सरगुजा से एक और मंत्री बनने की संभावना है।

उन्होंने कहा कि जिन नामों की चर्चा जोरों पर है, उनकी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात हुई है। सिंहदेव ने कहा कि राहुल गांधी को मैंने अपनी राय बता दी है, उन्होंने फैसला सुरक्षित रखा है। जल्द ही इसका ऐलान कर दिया जाएगा। मंत्री सिंहदेव मंगलवार को यहां एक निजी अस्पताल में भर्ती मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मां को देखने पहुंचे थे। अस्पताल परिसर में ही पत्रकारों से चर्चा में उन्होंने यह बात कही।

विधानसभा सत्र से पहले सरकार में बचे एक मंत्री और प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा होने की संभावना है। बदली परिस्थितियों में प्रदेश अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे सीतापुर विधायक अमरजीत भगत को भूपेश मंत्रिमंडल में शामिल करने की चर्चा है।

बताया जा रहा है कि सिंहदेव के विरोध के बाद भगत का नाम प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ से बाहर हो गया। सिंहदेव ने ही राहुल गांधी को मोहन मरकाम और मनोज मंडावी का नाम सुझाया था। इसके बाद एक दिन पहले ही राहुल गांधी ने दोनों नेताओं से वन टू वन चर्चा भी की है। सूत्रों की मानें तो राहुल गांधी इन्ही दो नाम में से किसी एक को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की घोषणा कर सकते हैं।

अमरजीत के मंत्री बनाने की सिर्फ घोषणा बाकी

भूपेश सरकार में 12वें मंत्री को लेकर सीतापुर विधायक अमरजीत भगत के नाम पर चर्चा चल रही है। अमरजीत चौथी बार विधायक बने हैं और लगभग-लगभग इन्हें मंत्री बनाए जाने को लेकर सहमित बन गई है। बाकी अधिकारिक ऐलान होना बाकी है। हालांकि इन चर्चाओं के बीच अमरजीत ने कहा कि उन्हें भी सब जानकारी मीडिया के माध्यम से मिल रही है। अभी तक कोई भी औपचारिक जानकारी नहीं मिली है। ऐसे में कुछ भी कहना संभव नहीं है।