रायपुर। चूना पत्थर की नीलामी में छत्तीसगढ़ ने नया इतिहास रच दिया है। राज्य के बलौदाबाजार जिले में स्थित गुमा स्थित चूना खदान के लिए देश की अब तक की सबसे बड़ी 138.25 फीसदी की बोली लगी है। इससे पहले यह महाराष्ट्र के एक खदान की बोली 125.05 फीसदी की लगी थी। इस खदान से सरकार को करीब 83 हजार करोड़ का राजस्व प्राप्त होगा। बोली लगाने वाली कंपनी अल्ट्राटच सीमेंट को यह खदान 50 साल के लिए दिया गया है।

खनिज विभाग के सचिव सुबोध सिंह ने बताया कि खदान के लिए ई-नीलामी के माध्यम से बोली हुई। इसमें 138.25 प्रतिशत की बोली आई, जो कि भारत में नॉन कोल खनिज ब्लॉक की हुई अब तक 19 सफल नीलामी में सबसे अकितम बोली है। यह चूना पत्थर के लिए निर्धारित आईबीएम दर 431 स्र्पए प्रति टन के ऊपर है। इससे राज्य को 596 स्र्पए प्रति टन लगभग अतिरिक्त राशि प्राप्त होगी।


15 घंटे ऑनलाइन चली बोली

खदान के लिए 12 मार्च को सुबह ई-नीलामी शुरू हुई। इसमें देश की पांच नामी सीमेंट कंपनियां शामिल हुईं। लगभग 15 घंटे जारी फारवर्ड ऑक्शन में निर्धारित 05 प्रतिशत रिजर्व प्राइस के विस्र्द्ध अल्ट्राटच 138.25 प्रतिशत अधिकतम बोली लगाकर लीज हासिल किया।

छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य

नई आवंटन नीति के तहत खदानों का आवंटन करने वाला छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है। पिछले साल सरकार ने तीन चूना व एक स्वर्ण ब्लॉक की सफलतापूर्वक ई-नीलामी की थी।

फैक्ट फाइल

0 गुमा खदान के लिए लगी 138.25 प्रतिशत की बोली।

0 खदान के लिए न्यूनतम बोली 431 स्र्पए प्रति टन तय की गई थी।

0 बलौदाबाजार के पलारी तहसील में है गुमा माइंस।

0 225.40 हेक्टेयर में है यह चूना पत्थर का खदान।

0 124 मिलियन टन सीमेंट ग्रेड चूनापत्थर का भंडार है।


यह होगा फायदा

0 1000 करोड़ की मिलेगी रायल्टी।

0 7390 करोड़ मिलेगा नीलामी राशि के स्र्प में।

0 100 करोड़ मिलेगा डीएमएफ फंड में।

0 20 करोड़ (एनएमईटी) राष्ट्रीय खनिज अन्वेषण ट्रस्ट में।