रायपुर। थर्ड जेंडर समुदाय (किन्नर) को कानूनी मान्यता मिलने के बाद अब इस समुदाय में तेजी के साथ जागरूकता आ रही है। समुदाय के लोगों का जीवन स्तर भी सुधर रहा है और वे समाज की मुख्य धारा से जुड़ रहे हैं। विश्व में पहली बार रायपुर में किन्नरों के सामूहिक विवाह का आयोजन भी होने जा रहे है।

चित्रगाही फिल्म्स कंपनी की ओर से आगामी 30 मार्च को पूरे रायपुर में ट्रांसजेंडर समुदाय का विवाह का आयोजन किया जाएगा। यह विवाह गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज होगा। विवाह समारोह में पूरे देश के अलग-अलग राज्यों से आए 15 जोड़े शामिल होंगे।

इस अवसर पर 15 ट्रांसजेंडर्स युवतियां अपने पुरुष मित्रों के साथ परिणय सूत्र में बंधेंगी। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नवविवाहित किन्नरों का कन्यादान करेंगे। ट्रांसजेंडर समुदाय की सामाजिक कार्यकर्ता विद्या राजपूत ने बताया कि वह इस आयोजन को लेकर बहुत उत्साहित है।

आयोजन कमेटी की रवीना बरिहा ने कहा कि सामूहिक विवाह लैंगिक समानता की ओर बढ़ाया गया पहला कदम है। इसके जरिए किन्नर समाज के युवा भी अब पारिवारिक संस्कारों में बंध कर अपने सामाजिक दायित्वों को पूरा कर सकेंगे।