राजनांदगांव। फायनेंस ब्रोकर महावीर चौरड़िया की खुदकशी के तीन दिन पुराने मामले में पुलिस ने मंगलवार को तीन बड़े उद्योगपतियों पर खुदकुशी के लिए उत्प्रेरित का अपराध दर्ज कर लिया है। ये तीनों विनोद लोहिया, भाई अशोक लोहिया और कमल मुंदड़ा वहीं नाम है, जिनका उल्लेख महावीर ने ऑडियो व सुसाइट नोट में किया है।

महावीर ने सुसाइड नोट में इनके खिलाफ 70 से 75 करोड़ स्र्पए की हुंडीचिट्ठी का जिक्र किया है। महावीर की मौत के बाद से तीनों उद्योगपति शहर से फरार हैं। कोतवाली पुलिस धारा 306 व 34 आईपीसी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपियों की पतासाजी में जुट गई है। सीएसपी सचिनदेव शुक्ला ने बताया कि सुसाइड नोट की जांच के लिए उसे हैंडराइटिंग एक्सपर्ट के पास भेजा जा रहा है। उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।