राजनांदगांव। नईदुनिया प्रतिनिधि

विधानसभा चुनाव के लिए संभावित प्रत्याशियों की तलाश करने रविवार को भाजपा हाईकमान द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक यहां आ रहे हैं। वे राजनांदगांव को छोड़ जिले की शेष पांच सीटों पर जीत की संभावनाएं वाले दावेदारों को लेकर मंथन करेंगे। लाबिंग न हो, इस कारण पर्यवेक्षकों का नाम गोपनीय रखा गया है। वे सुबह 11 बजे सीधे भाजपा कार्यालय पहुंचेंगे। मंथन के बाद उनकी रिपोर्ट प्रदेश भाजपा की चुनाव समिति के पास जाएगी। वहां से नामों की लिस्ट केंद्रीय चयन समिति के पास अंतिम मुहर के लिए भेजी जाएगी। प्रत्याशियों के नामों का ऐलान दिल्ली से ही दशहरा के बाद होने की संभावना जताई जा रही है।

राजनांदगांव सीट से डा. रमन सिंह का नाम तय माना जा रहा है। बची पांच सीटों पर मंथन के लिए रविवार को पर्यवेक्षक आ रहे हैं। ये पर्यवेक्षक जिला भाजपा कार्यालय में बैठकर विधानसभावार दावेदारों के नामों पर अलग-अलग विचार और मंथन करेंगे। पर्यवेक्षकों को इस बारे में संगठन से ही बात करनी है। इसके लिए प्रदेश भाजपा ने पहले से ही मापदंड तय कर रखा है। बताया जा रहा है कि विधानसभावार जो भी बात होगी, वह एक-एककर होगी। यानी वन बाई वन चर्चा की जाएगी।

दावेदारों से नहीं करेंगे बात

दावेदारों के नामों पर विचार करने आ रहे पर्यवेक्षकों को केवल जिला व मंडल के पदाधिकारियों के अलावा भाजपा के निर्वाचित प्रमुख पदाधिकारियों से ही चर्चा करनी है। टिकच को लेकर वे किसी दावेदार से कोई बात नहीं करेंगे। हां, अगर कोई दावेदार संगठन में है या फिर निर्वाचित प्रतिनिधि है तो उनसे संगठन की गाइडलाइन के अनुसार बात अवश्य की जाएगी।

छह घंटे होगा विचार-विमर्श

तय कार्यक्रम के अनुसार पर्यवेक्षकों को हर विधानसभा क्षेत्र के लिए एक-एक घंटे का समय देना है। इस दौरान व प्रदेश भाजपा द्वारा तय गाइडलाइन के अनुसार काम करेंगे। सुबह 11 से शाम छह बजे तक जिले की सभा सीटों का पर्यवेक्षण करना है। हालांकि सीएम की संभावित सीट राजनांदगांव पर किसी तरह के मंथन की आवश्यकता नहीं बताई जा रही। जिला भाजपा के महामंत्री सावन वर्मा ने बताया कि पर्यवेक्षकों का नाम प्रदेश संगठन ने गोपनीय रखा है। रविवार को जिले की सभा सीटों पर दावेदारों के नामों पर विचार विमर्श किया जाएगा।

कांग्रेस की सूची अगले हफ्ते

जिले की सभा सीटों के लिए कांग्रेस की केंद्रीय चयन समिति ने विचार कर लिया है। खबर है कि नाम भी तय कर लिये गए हैं, लेकिन घोषणा अगले हफ्ते ही होगी। चर्चा के मुताबिक जिले के चार में से तीन मौजूदा विधायकों को फिर से मैदान में उतारा जा सकता है। मानपुर-मोहला और राजनांदगांव के अलावा डोंगरगढ़ सीट पर फैसला बाद में किया जाएगा। हालांकि खबर यह भी आ रही है कि सभी सीटों के लिए नाम तय कर लिये गए हैं। इसकी घोषणा रणनीति के तहत ही की जाएगी।

----