राजनांदगांव। नईदुनिया प्रतिनिधि

किसानों का कर्ज माफी की कवायद शुरू हो गई है। वहीं दूसरी ओर समिति प्रबंधकों की परेशानी बढ़ गई है। शाखा प्रबंधकों को कर्ज माफी की प्रविष्टियां ऑन लाइन जमा करनी है। लेकिन सर्वर डाउन होने के कारण ऑन लाइन प्रविष्टी की प्रक्रिया पूरी तरह से अटक गई है। पूरी प्रविष्टियां जमा होने के बाद ही कर्ज माफी की राशि जारी की जाएगी।

किसानों की सूची तैयार

जिले में 10,8749 किसान हैं। समिति प्रबंधकों ने अल्पकालीन ऋण लेने वाले किसानों की सूची तैयार हो चुकी है। वहीं कर्ज का पूरा ब्यौरा भी तैयार कर लिया है। ऑन लाइन प्रविष्टियां जमा होने के साथ ही कर्ज माफी की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। लेकिन सर्वर डाउन होने के कारण ऑनलाइन प्रविष्टि नहीं हो पा रही है। जिसके कारण शाखा प्रबंधकों की परेशानी बढ़ गई है। कांग्रेस ने विधासभा चुनाव के दौरान किसानों का कर्ज माफी की घोषणा व समर्थन मूल्य 2500 रुपये करने की घोषणा की थी। कांग्रेस की इस घोषणा के बाद किसानों की उम्मीद जग गई है।

धान की बढ़ी आवक

समर्थन मूल्य में धान खरीदी की घोषणा होने के बाद सोसायटियों में अचानक धान की आवक बढ़ गई है। अब तक डेढ़ लाख क्विंटल धान की खरीदी हो चुकी है। वर्तमान में धान का समर्थन मूल्य 2070 रुपये है। लेकिन कांग्रेस सरकार ने 2500 रुपये समर्थन मूल्य में धान खरीदी की घोषणा की थी।

कांग्रेस की इस घोषणा के बाद खरीदी केन्द्रों में धान की बंपर आवक हो रही है। किसानों को समर्थन मूल्य की राशि मिलने की आस जग गई है। लेकिन अब तक शासन से समर्थन मूल्य में खरीदी का आदेश नहीं आया है। आदेश आते ही समर्थन मूल्य 2500 रुपये किसानों के खाते में पहुंच जाएगी।

31 जनवरी तक होगी खरीदी

31 जनवरी तक धान की खरीदी होगी। इस बार प्रशासन ने 58 लाख क्विंटल धान खरीदी का लक्ष्य रखा है। अब तक 34 लाख क्विंटल धान की खरीदी हो चुकी है। जिले के 114 उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी हो रही है। समर्थन मूल्य में खरीदी की घोषणा होते ही धान की आवक बढ़ गई है। किसान अपनी उपज सोसायटियों में बेच रहे हैं।