रायपुर। छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण की सबसे प्रतिष्ठापूर्ण राजनांदगांव लोकसभा सीट पर पिछले चुनाव की तुलना में कुछ कम मतदान हुआ है। इस लोकसभा सीट में शामिल आठ में से पांच विधानसभा सीटों पर मतदान के आंकड़े 2014 में हुए लोकसभा चुनाव की तुलना में बढ़ गए हैं। हालांकि इन्हीं विधानसभा सीटों पर 2018 के अंत में हुए विधानसभा चुनावों में अभी हुए लोकसभा की तुलना में जमकर मतदान हुआ था। विधानसभा चुनाव में राजनांदगांव लोकसभा सीट में शामिल सभी विधानसभा सीटों पर 80 फीसद से ज्यादा मतदान हुआ था जबकि अभी लोकसभा चुनाव में आंकड़ा 65 से 75 फीसद के बीच है।

विधानसभा चुनाव में बढ़े मतदान से बदल गए थे नतीजे

दिसंबर में हुए विधानसभा चुनाव में 2013 में हुए विधानसभा चुनाव की तुलना में ज्यादा वोट पड़े थे। लोकसभा क्षेत्र में शामिल आठ विधानसभा सीटों में से मात्र राजनांदगांव ही ऐसी सीट थी जहां मतदान का प्रतिशत 2013 की तुलना में 2018 में घटा था। 2013 में इस इलाके की विधानसभा सीटों पर भाजपा की विजय हुई थी। 2018 में सात सीटों पर मत बढ़े तो सभी सातों सीट पर भाजपा हार गई। राजनांदगांव में वोट घटे थे और यहीं भाजपा के डॉ रमन सिंह जीत पाए थे।

लोकसभा चुनाव में भी एक सीट पर कम और बाकी पर ज्यादा मतदान

लोकसभा चुनाव में 2014 की तुलना में 2019 में सात सीटों पर ज्यादा मतदान हुआ है। इस बार भी सिर्फ राजनांदगांव विधानसभा क्षेत्र ऐसा है जहां कम मतदान हुआ है। राजनांदगांव शहरी इलाका है। यहां कम मतदान किसकी ओर जाएगा इसका गणित लगाया जा रहा है।

लोकसभा में मतदान का प्रतिशत

विधानसभा-2014-2019

पंडरिया-67.66-65

कवर्धा-69.8-75

खैरागढ़-75.13-75

डोंगरगढ़-73.42-75

राजनांदगांव-75.43-69

डोंगरगांव-75.01-76

खुज्जी-72.55-75

मोहला मानपुर-69.41-74

(लोकसभा 2019 के आंकड़े अनंतिम हैं)

राजनांदगांव के विधानसभा सीटों में विधानसभा चुनाव के आंकड़े

विधानसभा-2013-2018

पंडरिया-76.74-77.89

कवर्धा-78.18-82.57

खैरागढ़-81.79-84.59

डोंगरगढ़-80.09-82.75

राजनांदगांव-81.23-78.98

डोंगरगांव-82.81-85.48

खुज्जी-82.13-84.81

मोहला मानपुर-76.47-80.36

लोकसभा चुनावों के मतदान के आंकड़े

वर्ष-2004-2009-2014-2019

59.38-58.86-74.04-71