रायपुर। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए जाने के बाद पहली बार राजधानी पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह का स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पर कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। डॉ रमन ने मीडिया से चर्चा में कहा कि राष्ट्रीय अमित शाह ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का दायित्व दिया है। पार्टी में पहली बार राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का दायित्व मिला है। छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटो पर कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाना है। संकेत मिल रहे हैं कि डॉ रमन राजनांदगांव लोकसभा से भाजपा के उम्मीदवार हो सकते हैं। हालांकि डॉ रमन ने लोकसभा चुनाव लड़ने के सवाल को टाल गए।

उन्होंने कहा कि अभी वे विधायक हैं और विधायक के रूप में जो जिम्मेदारी होगी, उसे पूरा करेंगे। राजनांदगांव से उनके पुत्र अभिषेक सिंह वर्तमान में सांसद हैं। डॉ रमन ने कहा कि राजनांदगांव और कवर्धा से होते हुए पूरे छत्तीसगढ़ में जाऊंगा। लोकसभा में भाजपा का परचम लहराना ही मेरा उद्देश्य है।

लोकसभा की सभी 11 सीटें जीतना ही लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की लोकसभा की 11 सीटें कैसे जीतें, कार्यकर्ताओं का मनोबल कैसे बढ़ाएं और मजबूत करें, इसकी तैयारी करेंगे और जनता के बीच जाएंगे। विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद केंद्रीय नेतृत्व ने डॉ रमन के साथ मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधराराजे सिंधिया को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी है।

एयरपोर्ट पर पूर्व मंत्री राजेश मूणत, अजय चंद्राकर सहित भाजपा कार्यकर्ताओं ने रमन का जोरदार स्वागत किया। कार्यकर्ता ढोल नगाड़े के साथ एयरपोर्ट पहुंचे थे। डॉ रमन ने कहा कि जमीनी स्तर के कार्यकर्ता से लेकर अब तक जो भी जिम्मेदारी मिली है, उसे मैंने निभाया है। संगठन ने मंडल अध्यक्ष से लेकर प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी। अब राष्ट्रीय स्तर की जिम्मेदारी मिली है, उसे भी निभाऊंगा।