0 रिंग रोड से लगी सड़कों को अब धूलमुक्त करने पानी डाल धो रहे

फोटो-13-धुलवाई जा रही सड़क

अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

निर्माणाधीन रिंग रोड के कारण इससे लगे शहर की आंतरिक सड़कों में धूल के गुबार से इस बार स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर का अंक कटने का खतरा मंडरा रहा है। शहर को जहां प्रदेश के अग्रणी स्वच्छ शहर में गिना जा रहा है, प्रदेश के नगरीय प्रशासन विभाग को इसी शहर से स्वच्छता सर्वेक्षण में सर्वाधिक उम्मीद है किन्तु रिंग रोड के कारण धूल के गुबार से बदरंग हो रही स्थिति की जानकारी विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंची तो अब रिंग रोड से लगी सड़कों को पानी डालकर धोने का काम नगर निगम ने शुरू किया है। पानी डालकर धोने का यह अभियान स्वच्छता सर्वेक्षण तक जारी रहेगा।

एक वर्ष पूर्व नगर के 11 किलोमीटर रिंग रोड का निर्माण कार्य शुरू हुआ था। ठेकेदार की लापरवाही व लेटलतीफी के कारण अब तक एक हिस्से का भी निर्माण कार्य पूरा नहीं हो पाया है। मिट्टी की खोदाई और नए सिर से निर्माण मटेरियल रिंग रोड पर डाले जाने के कारण उड़ रही धूल से जहां रिंग रोड का पूरा इलाका धूल के गुबार में डूबा है, वहीं अब वाहनों की आवाजाही से रिंग रोड में उड़ रही धूल शहर के भीतरी हिस्सों में पहुंच चुकी है। नगर के देवीगंज, सदर रोड व ब्रह्म रोड को छोड़ कोई ऐसा मार्ग नहीं जहां रिंग रोड का धूल प्रवेश न किया हो। धूल हटाने का काम कुछ माह पूर्व नगर निगम ने अभियान चलाकर किया और झाडू लगवा धूल हटाया किन्तु कोई खास लाभ नहीं हुआ। अब स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 शुरू होने वाला है। पहले चरण में इसी माह ओडीएफ प्लस प्लस एवं स्टार रेटिंग की कवायद के लिए भारत सरकार की टीम पहुंचेगी। ऐसी स्थिति में धूल के गुबार से सड़कों का जो हाल है उससे स्वच्छता को लेकर नकारात्मक संदेश जाना तय है। शहर में उड़ रहे धूल के गुबार की जानकारी नगरीय प्रशासन विभाग विशेष सचिव एवं विभाग के डायरेक्टर के समक्ष भी पहुंच चुकी है। विभागीय सचिव ने निगम प्रशासन को किसी भी स्थिति में शहर से धूल कम करने तत्काल उपाए ढूंढने की बात कही है। विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने तो नियमित पानी डालने की व्यवस्था करने कहा है,किन्तु यह निगम के लिए आसान काम नहीं है। लिहाजा अब नगर निगम आयुक्त सूर्यकिरण तिवारी की पहल पर रिंग रोड से लगी प्रमुख सड़कों के धूल को हटाने टैंकर से पानी डाला जा रहा है और सफाई कर्मी लगाकर सड़क को धोने का काम शुरू किया गया है। पहले चरण में गांधी चौक से घड़ी चौक तक की सड़क को पानी डालकर शुक्रवार की रात धोया गया है। इसी तर्ज पर रिंग रोड से लगे सभी सड़कों को पानी डालकर धोया जाएगा और धूल हटाई जाएगी।

करीब तीन सौ किलोमीटर है शहर की सड़क

अंबिकापुर नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत नेशनल हाईवे, रिंग रोड, लोक निर्माण विभाग की सड़कों के साथ नगर निगम के अधीन आने वाले प्रमुख सड़कों व सैकड़ों गली-गलियारों की लंबाई अब लगभग तीन सौ किलोमीटर हो चुकी है। ऐसी स्थिति में इतनी लंबाई की सड़क से धूल हटाना नगर निगम के लिए आसान नहीं है। हालांकि गांधीनगर, गोधनपुर क्षेत्र रिंग रोड से दूर है इस कारण इस इलाके की सड़कों में उतनी धूल नहीं है, इसलिए लोगों के साथ निगम को भी राहत है, किन्तु शहर का अधिकांश इलाका रिंग रोड से लगा होने के कारण धूल के गुबार से मुश्किलों में है।

11 दिसंबर के बाद आएगी टीम

शहर में ओडीएफ प्लस प्लस के निरीक्षण के लिए भारत सरकार की टीम 11 दिसंबर के बाद किसी भी दिन आ सकती है। इसके लिए शहर के सभी सार्वजनिक शौचालयों में अप-टू-डेट किया जा रहा है। नगर निगम के सभी अधिकारी तैयारियों में जुट गए हैं।