सरगांव।नईदुनिया न्यूज

धार्मिक,सामाजिक या राजनीतिक कार्यक्रमों के आयोजनों के बाद कार्यक्रम स्थल में कूड़े करकट का ढेर छोड़ दिया जाता है। इसकी चिंता आयोजन समिति या प्रशासन नहीं करती। वहीं मदकू में सदभाव यज्ञ के समापन के बाद आयोजन समिति के सदस्यों ने गुरुवार को सफाई अभियान चलाया।

ज्ञात हो 11 फरवरी से श्रीहरिहर क्षेत्र केदार मदकू द्वीप में सामाजिक सद्भाव यज्ञ एवं लोककला महोत्सव आयोजित किया गया। इसमें मदकू, ठेलकी, बासीन, कड़ार, अकोली, परसवानी, बनियाडीह , धूमा, सिंगारपुर, सरगांव, किरना, मदवानी, घुठिया, बैतलपुर, नारायणपुर सहित 32 गांवों के श्रद्घालु महिला पुरुषों ने अपनी सहभागिता दी। समापन के बाद सेवा समिति के सदस्यों ने स्थल पर स्वच्छता अभियान चलाया। अभियान में जीवन लाल कौशिक,मनीष मिश्रा,परस साहू,मनीष साहू, विमला साहू, सुशीला ध्रुव, सीता ध्रुव, सुरेखा ध्रुव, पुनिया ध्रुव, जयकुमारी ध्रुव, संतोषी धु्रव, राजकुमारी यादव, सविता ध्रुव,यशोदा ध्रुव, सविता बाई, ठेलिया बाई, बिंदी बाई, कृष्णा ध्रुव, पुन्नाी ध्रुव आदि ने अपना योगदान किया।

प्लास्टिक पूरी तरह से की गई प्रतिबंधित

आयोजन समिति के द्वारा पर्यावरण संतुलन का ध्यान रखते हुए आयोजन के दौरान भंडारा एवं अन्य स्थानों पर पूरी तरह से प्लास्टिक के प्रयोग को प्रतिबंधित किया था। भोजन के लिए प्लेट,डिस्पोजल का भी प्रयोग नहीं किया गया। भविष्य में समिति की योजना है कि द्वीप क्षेत्र में आने वाले पर्यटकों को भी प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। स्मरणीय है कि द्वीप क्षेत्र में एकत्रित होने वाले प्लास्टिक कचरा उड़कर नदी में जाता है जो नदी के लिए घातक है।