Naidunia
    Monday, December 18, 2017
    PreviousNext

    लुढ़कती स्कूली वैन के नीचे लेट गया ड्राइवर, ऐसे बची मासूमों की जान

    Published: Fri, 08 Dec 2017 10:49 AM (IST) | Updated: Fri, 08 Dec 2017 11:06 AM (IST)
    By: Editorial Team
    school van driver 08 12 2017

    जशपुरनगर । स्कूली बच्चों से भरी लुढ़कती वैन को बचाने के लिए चक्के के नीचे लेट कर हुए घायल चालक की हालत अब खतरे से बाहर है। कुनकुरी के होलीक्रॉस अस्पताल में चालक की स्थिति में सुधार होने पर उसे आईसीयू से निकालकर वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है।

    इस बीच घायल से मिलने वैन में सवार स्कूली बच्चे और उनके अभिभावक पहुंचे। इस दौरान बच्चों ने चालक को जान बचाने के लिए धन्यवाद देते हुए जल्द स्वस्थ होने की कामना की। मामला मंगलवार को सामने आया था।

    नारायणपुर थाना क्षेत्र के ग्राम मटासी स्थित हरीश इंग्लिश मीडियम स्कूल के एक दर्जन से अधिक बच्चों को छुट्टी के बाद चालक उन्हें शाम करीब 3 बजे ग्रामीण क्षेत्र की ओर निकला था। दुलदुला ब्लाक के ग्राम कोरना निवासी शिव यादव (30) स्कूल वैन को चला रहा था।

    इस दौरान कलिया बछरांव की ओर ग्राम डहकूतला मोड़ के पास चालक शिव यादव लघुशंका के लिए वाहन से उतरा। इस दौरान बच्चों ने खेल-खेल में वैन को न्यूट्रल में कर दिया। इसके बाद वैन चलने लगी और ढलान होने के कारण तेजी से रफ्तार पकड़ ली।

    बच्चे समेत वैन में बैठे सभी लोग डर से चिल्लाने लगे। वाहन को चलते देख चालक शिव दौड़कर आया और सामने से वैन को रोकने की कोशिश करने लगा। काफी कोशिश की बाद भी वैन जब नहीं रुकी तो चालक शिव सामने आकर चक्के के आगे लेट गया।

    वैन का अगला चक्का शिव के ऊपर चढ़ गया और पिछले चक्के में पुंसने के बाद वाहन रुकी। इसके बाद वैन में बैठी महिलाकर्मी हरकत में आई और पत्थर रखते हुए वैन को काबू में किया।

    बच्चों ने घायल अवस्था में चालक शिव को नीचे से बाहर निकाला और अन्य राहगीरों की मदद से स्कूल प्रबंधन को सूचना देते हुए चालक शिव को कुनकुरी होलिक्रास हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। दो दिन के इलाज के बाद अब घायल वैन चालक की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है। होलीक्रॉस अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि शिव यादव की स्थिर हालत को देखते हुए उसे आईसीयू से जनरल वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है।

    वैन के चक्के के नीचे आने से शिव के कमर में चोट आई है। अगले दो चार दिन में उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। इस बीच घायल शिव यादव से अस्पताल में मिलने हादसे के वक्त वाहन में सवार स्कूल के बच्चे और उनके अभिभावक पहुंचे।

    बच्चों ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए इसे भविष्य में न दोहराने की बात कही। अपनी जान पर खेल कर उन्हें बचाने के लिए ड्राइवर अंकल को थैंक्स भी कहा।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें