बिलासपुर, नईदुनिया न्यूज। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को शनिवार को झटका लगा। प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उईके ने भाजपा का दामन थाम लिया। बिलासपुर में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में उन्होंने भाजपा में प्रवेश की घोषणा की। गौरतलब है उईके पाली-तानाखार सीट से लगातार तीसरी बार के विधायक हैं।

उईके के कांग्रेस छोड़ने की वजह : उईके ने भाजपा के दामन थामने को घर वापसी बताते हुए कहा कि कांग्रेस में घुटन महसूस हो रही थी। अब कांग्रेस नेता पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की भी नहीं सुनते।

जोगी के लिए छोड़ी थी सीट : उईके भाजपा के वही नेता हैं, जिन्होंने 2001 में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के लिए मरवाही सीट छोड़ी थी। 1998 में उईके भाजपा की टिकट पर मरवाही से चुनाव जीते थे।

कांग्रेस के लिए आसान हुआ गोंगपा से गठबंधन : उईके के कांग्रेस छोड़ने से कांग्रेस और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (गोंगपा) के बीच गठबंधन की संभावना बढ़ गई है।