0.थाने में शिकायत कर कार्रवाई की मांग

पᆬोटो क्रमांक- 14जेएसपी 6कार्रवाई की मांग को लेकर एकजुट हुए प्रार्थीगण।

सिंगीबहार। नईदुनिया न्यूज। पᆬरसाबहार विकासखंड मुख्यालय में स्थित तहसील कार्यालय में भ्रष्ट्राचार की शिकायत लोगों ने की है। प्रार्थीगण राष्ट्रीय अजाजजा आयोग के अध्यक्ष नंदकुमार साय के बेटे स्वर्ण कमल साय के साथ पᆬरसाबहार थाना पहुंचे और उक्त भ्रष्ट्राचार में जांच कर दोषियों के विरूद्घ आपराधिक प्रकरण दर्ज करने की मांग की गई है। आरोप है कि एक जमीन के मामले में आवेदकों को बिना किसी सूचना के प्रकरण कुनकुरी तहसील में हस्तांतरित कर दिया गया और एकतरपᆬा निर्णय प्रकरण में लेते हुए दूसरे पक्ष को लाभ पहुंचाया गया। इस मामले में प्रार्थियों ने दोनों ही तहसील कार्यालय के लिपिकों के उपर दूसरे पक्ष को लाभ पहुंचाने भ्रष्ट्राचार करने का आरोप लगाया है।

मामला पᆬरसाबहार तहसील कार्यालय से जुड़ा है, जहां पिताम्बरी बाई पिता भोजराज एंव शिवशंकर पिता लुथरू वगैरह के द्वारा न्यायालयीन प्रक्रिया में गड़बड़ी का आरोप लगाया गया है। आरोप है कि दूसरे पक्ष की साधना सिंह पिता करमू साय निवासी तपकरा के विरूद्घ प्रार्थियों के द्वारा जमीन पर अवैध कब्जा को लेकर शिकायत की गई थी। पिताम्बरी बाई ने थाने में बताया कि साधना सिंह पिता करमू साय द्वारा जमीन खाता क्रमांक 851 में जबरन कब्जा कर मकान बनाया जा रहा था। जिस पर शिकायत के बाद नामांतरण पर रोक लगाने कार्रवाई हुई और सुनवाई पᆬरसाबहार तहसील कार्यालय में चल रही थी। जिस पर तहसीलदार पᆬरसाबहार ने स्थगन आदेश भी जारी कर दिया था। प्रार्थियों ने नामांतरण पर आपत्ति की थी , जिसके लिए 29 मई 2017 की तिथि तय की गई थी। प्रार्थीगण उक्त तिथि की प्रतीक्षा कर रहे थे, तभी जानकारी मिली कि पᆬरसाबहार से उक्त प्रकरण की पᆬाइल ही गायब हो गई। प्रार्थीगणो ने आरोप लगाया है कि उक्त पᆬाइल एंव संबंधित दस्तावेज तहसील कार्यालय पᆬरसाबहार के लिपिक उमाशंकर पटेल द्वारा गोपनीय तरीके से छलकपट कर चोरी से गायब कर दिया गया। बात में पता चला कि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कुनकुरी के लिपिक संतोष कुमार बंजारे को बिना किसी विधिक प्रक्रिया के इस पᆬाइल को साधना सिंह को लाभ पहुंचाने हेतु दे दिया गया। जिसे प्राप्त कर संतोष कुमार बंजारे द्वारा विधि विरूद्घ धोखे से प्रकरण तहसील कार्यालय कुनकुरी अग्रेषित कर मामले में अनावेदकों को धोखे में रखकर बिना किसी प्रकार के सूचना एंव विधिक प्रक्रिया के एकतरपᆬा कार्रवाई कर दी गई और दूसरे पक्ष को भ्रष्ट्राचारपूर्वक लाभ पहुंचाया गया। शिकायतकर्ताओं ने मामले में तहसील कार्यालय पᆬरसाबहार के लिपिक उमाशंकर पटेल एंव कार्यालय अनुविभागीय राजस्व कुनकुरी के लिपिक संतोष कुमार बंजारे एंव इस मामले में लिप्त सभी दोषियों के विरूद्घ धारा 217, 219, 220, 420 बी, 166, 167 के तहत जांच कर दंडात्मक कार्रवाई की मांग की है।

भ्रष्टाचार का आरोप गलत है। उक्त मामले में प्रकरण कुनकुरी स्थांतरण करने के लिए द्वितीय पक्ष के द्वारा आवेदन दिया गया था। जिसके तहत प्रक्रिया का विधिवत पालन करते हुए प्रकरण कुनकुरी स्थानांतरित किया गया है। प्रकरण स्थानांतरित किए जाने विधिक प्रावधान हैं, और इसी के तहत उक्त स्थिति उत्पन हुई है।

उमाशंकर पटेल

लिपिक, पᆬरसाबहार तहसील कार्यालय

--------------