0 बीएमएस का सम्मेलन, पदाधिकारियों ने किया संबोधित

बिश्रामपुर । नईदुनिया न्यूज

एसईसीएल के ऑडिटोरियम में संपन्न भारतीय कोयला खदान मजदूर संघ के बिश्रामपुर एवं भटगांव क्षेत्र की संयुक्त बैठक में कोल इंडिया जेबीसीसीआई मेंबर एवं बीएमएस के कोल प्रभारी डॉ. बसंत कुमार राय ने कोयला उद्योग की वर्तमान स्थिति एवं केंद्र सरकार की नीतियों की बिंदुवार जानकारी देते हुए कोयला उद्योग पर गहराते संकट के हालात बताए।

सदस्यता सत्यापन के बाद भारतीय कोयला खदान मजदूर संघ (बीएमएस) बिश्रामपुर एवं भटगांव क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की संयुक्त बैठक ऑडिटोरियम में हुई। बैठक में कोल इंडिया जेबीसीसीआई मेंबर एवं बीएमएस के कोल प्रभारी डॉ. बसंत कुमार राय मुख्य अतिथि थे। इनके अलावा कोल इंडिया सेफ्टी बोर्ड मेंबर वैकल्पिक लक्ष्मण चंद्रा विशिष्ट अतिथि थे। बैठक की अध्यक्षता संगठन के केंद्रीय अध्यक्ष महेंद्र कुमार लांडेय ने की। केंद्रीय महामंत्री संजय सिंह ने सदस्यता सत्यापन में संगठन की सदस्यता बढ़ोतरी की जानकारी देते हुए संगठन की गतिविधियों पर प्रकाश डाला। श्रमिक मुद्दों को लेकर कथित श्रमिक संगठनों द्वारा कोयला मजदूरों में निर्मित की जा रही भ्रम की स्थिति पर वस्तुस्थिति को स्पष्ट करते हुए जेबीसीसीआई मेंबर डॉ. राय ने बिंदुवार जानकारी देते हुए कहा कि संगठन के कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी कोयला मजदूरों को वस्तुस्थिति से अवगत कराएं। उन्होंने कहा कि रिटायरमेंट कर्मचारियों को गोल्डन कार्ड दिए जाने का निर्णय हुआ है। गोल्डन कार्ड उन कर्मचारियों को मिलेगा जो पोस्ट रिटायरमेंट स्कीम के सदस्य होंगे। गोल्डन कार्ड देश के सभी पैनल हॉस्पीटल में मान्य होगा। कंपनी के चिकित्सालय में चिकित्सकों की कमी को दूर करने के उद्देश्य से 528 चिकित्सकों की कंपनी वार साक्षात्कार लेकर भर्ती की जाएगी। उन्होंने बताया कि कर्मचारियों को मकान बनाने के लिए तीन प्रतिशत ब्याज दर पर हाउस लोन के तहत 12 लाख रुपए प्राप्त करने की पात्रता होगी। फरवरी 2019 तक कोल इंडिया की सभी खदानों में कोयला कर्मचारियों के लिए एलईडी कैप लैंप के साथ साथ गुणवत्तायुक्त गमबुट उपलब्ध कराने का निर्णय लिया जा चुका है।

डॉ.राय ने अभी बताया कि एसईसीएल सहित कोल इंडिया की सहायक कंपनियों के 82 क्षेत्रों में सर्वसुविधायुक्त एंबुलेंस एक माह की समयावधि के में उपलब्ध करा दी जाएगी। माइनिंग सुपरवाइजरों की समस्या के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि सभी माइनिंग सुपरवाइजरों को फुल बेसिक के आधार पर चार्ज अलाउंस का भुगतान किया जाएगा। गंभीर रोगों से ग्रसित मजदूरों की कार्य क्षमता का आकलन करने के उद्देश्य से कोल इंडिया प्रबंधन द्वारा एम्स के डॉक्टरों की टीम का गठन किए जाने का निर्णय लिया गया है। बैठक का संचालन संगठन के केंद्रीय महामंत्री संजय सिंह तथा आभार प्रदर्शन अध्यक्ष महेंद्र लांडेय ने किया। बैठक में बीएमएस नेता मजरुल हक अंसारी सहित सुजीत सिंह, जितेंद्र बहादुर सिंह, सुदर्शन तिवारी, एसपी चतुर्वेदी, अशोक सिंह, अक्षयवर यादव, राकेश सिंह, मुनमुन सिंह, मनोज सिंह, राजेश सिंह, अमरपाल मिश्रा, गौतम पाल, अर्जुन गिरी, शिवराम सिंह, सरोज सिन्हा, सुरजन प्रजापति, मनोज मिश्रा, कमल सक्सेना, दामोदर दुबे, अशोक दुबे, एनके मनोज आदि मौजूद थे।

सदस्यता बढ़ोतरी पर दी बधाई

सदस्यता सत्यापन के दौरान श्रम शक्ति के घटते क्रम के बावजूद डेढ़ हजार सदस्य संख्या बढ़ोतरी पर उन्होंने संगठन नेतृत्व को बधाई देते हुए कहा कि संगठन श्रमिक समस्याओं के निराकरण के प्रति निरंतर सजग रहते हुए भविष्य में सदस्य संख्या और बढ़ाने की बात कही।