बेमेतरा। नईदुनिया न्यूज

स्ट्रांग रूम की सुरक्षा में तैनात बीएसएफ जवान के पास से बरामद लैपटॉप की जांच तीन सदस्यीय टीम

करेगी और तीन दिनों के भीतर जवाब देगी। उसके बाद निर्णय किया जाएगा की कार्रवाई किस तरह की होगी। बेमेतरा स्ट्रांग रूम में 3 दिन पहले पुलिस के द्वारा जब्त किए गए लैपटॉप जिस पर कांग्रेसियों ने काफी हंगामा किया था। लैपटॉप जो कि पुलिस अभिरक्षा में है इसकी जांच के लिए कलेक्टर ने एक टीम का गठन किया है। टीम जांच के बाद कलेक्टर को रिपोर्ट सौंपेगी। गठित की गई टीम में रोहित चंद्रवंशी एनआईसी के डीआईओ तथा संदीप तिवारी आईटीआई बेमेतरा तथा महेंद्र वर्मा बेमेतरा

लैपटॉप के तमाम के बारे में बारीकी से जांच कर अपनी रिपोर्ट देंगे। जांच रिपोर्ट के आधार पर यदि कोई आपत्तिजनक पाया जाता है उस पर निर्णय लिया जाएगा।

विदित हो कि स्ट्रांग रूम में बीएसएफ के उपनिरीक्षक नेहरा द्वारा लैपटॉप का उपयोग किया जा रहा था तो स्ट्रांग रूम के निगरानी में बैठे कांग्रेस के सदस्यों ने इस बात की जानकारी अपने नेताओं को दी थी। इसके बाद मंडी परिसर में देर रात तक कांग्रेसियों ने एक तरफ से हंगामा कर न केवल शंका जाहिर ही की थी बल्कि इस बात के लिए भी आपत्ति दर्ज कराई थी कि आखिर स्ट्रांग रूम जैसे संवेदनशील जगह पर स्ट्रांग रूम की सुरक्षा में लगे बीएसएफ के जवान को किसी डिवाइस का उपयोग किसकी अनुमति कैसे कर रहे हैं। बहरहाल उनके द्वारा किए गए शिकायत के बाद जिला प्रशासन व

पुलिस प्रशासन के द्वारा इस मामले की गंभीरता को लेते हुए लैपटॉप को पुलिस अभिरक्षा में रखा गया है