बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

मरवाही क्षेत्र के परासी चंगेरी में दहेज के नाम पर बहू को जिंदा जलाने की कोशिश करने का मामला सामने आया है। महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने पति व ससुर के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया है।

जानकारी के अनुसार करीब 20 साल पहले सावित्री केंवट की शादी मोतीलाल केंवट पिता तुलसी केंवट से हुई थी। शादी के काफी समय तक बस ठीकठाक चलता रहा। लेकिन, जब वह मां नहीं बन पाई तो उसके पति ने करीब 11 साल पहले दूसरी शादी कर ली। इसके बाद उसका पति व ससुर उसे मायके की जमीन में बंटवारा लेकर आने और उसे बेचकर रकम जुटाने को लेकर दबाव बनाने लगे। कई सालों तक सावित्री ससुराल वालों की इस प्रताड़ना को झेलती रही। घटना बीते चार नवंबर की सुबह करीब छह बजे की है। उसके कमरे में पति व ससुर आ गए और उसके साथ गाली-गलौज करते हुए मिट्टीतेल डालकर जिंदा जलाने की कोशिश करने लगे। किसी तरह सावित्री बीच-बचाव कर कमरे से भाग निकली। फिर मामले की शिकायत लेकर थाने पहुंची। लेकिन, पुलिस उसकी शिकायत सुनने के लिए तैयार नहीं हुई। फिर बाद में उसने पुलिस अफसरों से कार्रवाई की गुहार लगाई। तब पुलिस अफसरों के निर्देश पर मरवाही पुलिस ने आरोपित पति व ससुर के खिलाफ मामला दर्ज किया है।