रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रविवार को हिदायतुल्ला नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में बतौर प्रवक्ता पहुंचे प्रोफेसर फैजान मुस्तफा छात्रों ने रू-ब-रू हुए। उन्होंने कहा कि जब तक धर्मों के बीच शांति नहीं होगी, दुनिया अस्थाई रहेगी। न्यायालयों में सदैव विवादों के केस आते रहेंगे और न्यायधीश केसों को सुलझाते रहेंगे। इस मौके पर संस्थान के कुलसचिव डॉ. आयान हाजरा और छात्र मौजूद रहे। डॉ. मुस्तफा ने राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालयों के कुलपति के रूप में चुनने के लिए उम्मीदवारों के एक बड़े पुल के महत्व पर जोर दिया। साथ ही भारत के सर्वोच्च न्यायालय के दो ऐतिहासिक निर्णयों का विश्लेषण किया। बताया कि सबरीबाला और ट्रिपल तलाक न्यायपालिका के लिए चुनौती है। डॉ. फैजान ने जोर देकर कहा कि न्यायालयों को इस सवाल में जाने से बचना चाहिए कि धर्म के प्रति क्या आवश्यक है और क्या नहीं। धर्म, उनकी राय में स्थिर नहीं है, यह किसी प्रस्तावक के जीवनकाल की अवधि तक स्थिर नहीं होना चाहिए, क्योंकि धर्म विकास का उत्पाद है।