बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर के साथ ही जिले के विभिन्न थानों में लंबे समय से जब्त शराब मालखाने में पड़ी थी। एसपी आरिफ शेख की पहल पर थानों से जानकारी जुटाकर इसे नष्टीकरण की प्रक्रिया शुरू की गई। मंजूरी मिलने के बाद 11 थानों में जब्त 13 हजार 600 लीटर शराब को रविवार को चकरभाठा क्षेत्र में नष्ट किया जाएगा।

अवैध शराब पकड़ने के लिए पुलिस लंबे समय से अभियान चला रही थी। इसके तहत शहर के साथ ही जिलों के विभिन्न थानों में बड़ी मात्रा में शराब रखी थी। जब्त शराब थानों के मालखानों में खराब हो रही थीं। इससे अव्यवस्था भी हो रही थी। जबकि, जब्त शराब के प्रकरणों का कोर्ट से निराकरण भी हो चुका है। मादक पदार्थों के नष्टीकरण के लिए सुप्रीम कोर्ट से आदेश जारी हुआ था। इसके तहत थानों में रखे नशीले पदार्थ जैसे नशीले टेबलेट व गांजों के नष्टीकरण की प्रक्रिया शुरू की गई। इसके लिए प्रदेश व रेंज स्तर पर कमेटी बनी थी। इसी कड़ी में एसपी आरिफ शेख ने थानों में जब्त ऐसी शराब जिनके मामलों का कोर्ट से निकराकरण हो गया है, उनके नष्टीकरण के निर्देश दिए गए। इसके लिए उन्होंने सभी थानों से जानकारी मंगाई। फिर न्यायालयीन मामला निपटाने का हवाला देकर जब्त शराब को नष्ट करने की अनुमति मांगी गई। जानकारी के अनुसार शहर के 11 थानों के 573 प्रकरणों में शराब को नष्ट करने के लिए अनुमति मिल गई है, जिसे रविवार को चकरभाठा थाना क्षेत्र में एकत्र कर नष्ट किया जाएगा।

ग्रामीण थानों की पांच हजार लीटर शराब भी होगी नष्ट

एएसपी अर्चना झा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र के थानों के मालखानों में रखी जब्ती की शराब को भी जल्द नष्ट किया जाएगा। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के बिल्हा, मस्तूरी, पचपेड़ी, रतनपुर, कोटा व तखतपुर थाने में 261 प्रकरण में चार हजार 837 लीटर शराब नष्ट करने के लिए अनुमति मांगी गई है।