नई दिल्ली। आंध्र के सीएम व तेलुगु देसम पार्टी (तेदेपा) के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने सोमवार को दिल्ली स्थित आंध्र भवन में अनशन के जरिये एक बार फिर विपक्षी एकजुटता दिखाई। राज्य को विशेष दर्जा देने की मांग को लेकर किए गए उपवास में विपक्ष के दिग्गज नेताओं ने हाजिरी दी। इसके जरिये एक माह से कम समय में विपक्ष ने दूसरी बार शक्ति प्रदर्शन किया है।

मोदी नहीं निभा रहे राजधर्म

तेदेपा प्रमुख नायडू 2014 में आंध्र प्रदेश के विभाजन के समय विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा पूरा करने की केंद्र से मांग कर रहे हैं। नायडू ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना राजधर्म नहीं निभा रहे हैं।

आंध्र का पैसा चुरा कर अंबानी को दिया

अनशन स्थल पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने आंध्र प्रदेश के लोगों का पैसा चुराकर अनिल अंबानी को दे दिया।

राफेल डील का परोक्ष उल्लेख करते हुए राहुल ने यह बात कही। विपक्ष के ये नेता पहुंचे नायडू के धरने का समर्थन करने पहुंचे नेताओं में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, नेकां नेता फारूक अब्दुल्ला, राकांपा नेता माजिद मेमन, तृृणमूल नेता डेरेक ओ ब्रायन, लोजद नेता शरद यादव, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव, द्रमुक की तिरचि सिवा शामिल थे।

19 जनवरी को ममता के धरने में 22 दल पहुंचे थे पिछली बार विपक्षी नेताओं ने 19 जनवरी को अपनी ताकत दिखाई थी। 22 विपक्षी दलों के नेता सीबीआइ के कदम के खिलाफ प. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आंदोलन को समर्थन देने पहुंचे थे।