नई दिल्ली। दिल्ली में कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के खिलाफ हल्ला बोल दिया है। कांग्रेस ने राजधानी में पानी की समस्या को लेकर 'आप' सरकार के खिलाफ 'जल सत्याग्रह' अभियान शुरू कर अपना विरोध दर्ज कराया है। राजधानी के विभिन्न इलाकों में चल रहे जल संकट को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन के नेतृत्व में कार्यकर्ता सड़क पर उतरे और प्रदर्शन किया। एक माह तक चलने वाले 'जल सत्याग्रह' की शुरुआत शुक्रवार को अजय माकन ने की थी।

'आप' के खिलाफ सड़क पर कांग्रेस -

जल संकट को लेकर विरोध कर रहे कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा कि दिल्ली को मुफ्त पानी देने के दिल्ली सरकार के जुमले की पोल खुल गई है। जब दिल्ली में पानी है ही नहीं, तो मुफ्त में कैसे दिया जा रहा है। अनधिकृत कॉलोनियों में पानी के लिए युद्ध जैसी स्थिति बन चुकी है। आज आधी दिल्ली प्यासी है और पानी को लेकर तीन मासूम लोगों ने अपनी जान गवां दी है। गंदा पानी पीकर बच्चे बीमार हो रहे हैं। टैंकर माफिया जनता को लूट रहे हैं और सरकारी टैंकर सिस्टम पूरी तरह से फेल हो गया है। 'आप' सरकार के खिलाफ शुरू हुए 'जल सत्याग्रह' अभियान में बड़ी संख्या में महिलाओ ने भी हिस्सा लिया।

बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं -

इससे पहले माकन ने शुक्रवार को कहा था कि दिल्ली में प्रतिदिन 906 एमजीडी (मिलियन गैलन प्रतिदिन) पानी का शोधन हो रहा है। इसके हिसाब से प्रत्येक व्यक्ति को 210 लीटर अर्थात 20 बाल्टी पानी प्रतिदिन मिलना चाहिए, लेकिन दिल्ली के लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। पानी माफिया सरकार की मिलीभगत से पानी की चोरी कर रहा है।

टैंकर माफिया पर नहीं लगी लगाम -

कांग्रेस नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल चुनाव से पहले भाषणों में कहा करते थे कि सत्ता में आने के 24 घंटों के अंदर टैंकर माफिया द्वारा की जा रही पानी की चोरी को बंद करा देंगे, मगर सरकार के चार साल पूरे होने के बाद भी केजरीवाल टैंकर माफिया पर कोई लगाम नहीं लगा पाए हैं। इसके विपरीत पिछले वर्ष की तुलना में उन्होंने 56 टैंकर ज्यादा बढ़ा दिए हैं। हैरानी की बात यह है कि पिछले वर्ष जहा 16,668 स्थानों पर टैंकरों से पानी पहुंचाया जाता था, उन्हें कम करके इस वर्ष 7,768 कर दिया गया है।