अभिनव उपाध्याय, नई दिल्ली। दौलतराम कॉलेज और भारती कॉलेज में हुए यौन प्रताड़ना के मामले में छात्राओं द्वारा शिकायत करने के बाद डीयू ने इस पूरे मामले को गंभीरता से लिया है। डीयू ने न केवल कॉलेजों में कॉलेज शिकायत समिति (सीसीसी) का चुनाव कराने के लिए कहा है कि बल्कि परिणाम की जानकारी भी 15 मार्च तक मांगी है। इस समिति में कॉलेजों की छात्राओं की भी भागीदारी होगी।

दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन ने यूजीसी के 2015 प्रपत्र का हवाला देते हुए कॉलेजों में कार्यरत महिलाओं एवं छात्राओं का यौन शोषण रोकने व शिकायत के लिए समिति बनाने की बात कही है। इस बाबत डीयू की प्रॉक्टर नीता सहगल ने सभी कॉलेजों के प्रिंसिपलों को एक पत्र भी भेजा है। इसमें लैंगिक संवेदनशीलता को लेकर कॉलेज शिकायत समिति बनाने व इसका चुनाव कराने के निर्देश दिए हैं। विवि प्रशासन ने नामांकन से लेकर परिणाम तक की तिथि सारणी भी कॉलेजों को भेजी है।

पत्र में यह भी कहा गया है कि दिल्ली विश्वविद्यालय के सभी प्रिंसिपलों को गत वर्ष 19 अप्रैल को अधिसूचित किया गया था कि वे यौन शोषण के विरोध में एक समिति का निर्माण करें। कुछ कॉलेजों में समिति का गठन तो हुआ लेकिन यूजीसी के नियमों का पालन नहीं हुआ। अब इसके लिए यूजीसी विनमय 2015 के तहत कॉलेज शिकायत समिति और लैंगिक संवेदीकरण समिति का चुनाव निर्धारित तिथि के अंदर कराएं व चुने गए समिति सदस्यों के नाम 15 मार्च तक हर हाल में प्रॉक्टर ऑफिस को भेजा जाए।

- नामांकन दाखिल करने कि अंतिम तिथि - शुक्रवार 23 फरवरी शाम 3 बजे तक।

- नामांकन पत्रों कि जांच - शुक्रवार 23 फरवरी शाम 4 बजे तक।

- उम्मीदवारों के नामांकन पत्रों का प्रकाशन - शुक्रवार 23 फरवरी शाम 5 बजे तक।

- नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख - मंगलवार 27 फरवरी शाम 2 बजे तक।

- अंतिम सूची का प्रकशन - मंगलवार 27 फरवरी शाम 5 बजे तक।

- चुनाव - सोमवार 12 मार्च सुबह 11 से दोपहर 1ः30 बजे तक।

- परिणामों की घोषणा - सोमवार 12 मार्च शाम 5 बजे।