नई दिल्ली। दिल्ली के लक्ष्मीनगर इलाके में घरेलू कलह इस हद तक अपने पैर फैलाए की मां ने ही अपने दो मासूम बच्चों को मौत के घाट उतार दिया। बच्चों को मारने के बाद मां ने भी खुदकुशी की कोशिश की, लेकिन वह बच गई और अस्पताल में जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रही है। दोनों मृतक बच्चों की पहचान 3 साल के आफरान और 7 साल की महक के रूप में हुई है।

वहीं जख्मी हालत में आलिया (34) को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत गंभीर है। पुलिस फिलहाल पति मुनव्वर (36) से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है। मुनव्वर परिवार के साथ एन ब्लॉक, ललिता पार्क, लक्ष्मीनगर में रहते हैं। उनका पुरानी दिल्ली में स्पेयर पा‌र्ट्स का कारोबार है।

सोमवार शाम को मुनव्वर घर लौटे तो बच्चे खेल रहे थे। किसी बात को लेकर उनकी पत्नी से कहासुनी हो गई। बाद में दोनों शांत हो गए। रात करीब 8:50 बजे आलिया महक और आफरान को लेकर छत पर पहुंच गई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक उन्होंने दोनों बच्चों को धक्का देने के साथ खुद भी छलांग लगा दी।

आफरान तीसरी मंजिल की छत से नीचे भूतल पर जबकि मां और बेटी दूसरी मंजिल की बालकनी में गिरे। पड़ोसियों ने देखा तो शोर मचाया। मुनव्वर भी बाहर निकलकर भूतल पर पहुंचे तो आफरान खून से लथपथ था। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

पत्नी और महक को लेकर अस्पताल पहुंचे, वहां बच्ची को मृत घोषित कर दिया गया। खबर लिखे जाने तक आलिया को होश नहीं आया था। पुलिस पति और पड़ोसियों से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि महिला के बयान का इंतजार किया जा रहा है। प्रथम दृष्टया इस मामले में आलिया के खिलाफ केस बनता है।