नोएडा। सड़कों पर दौड़ रही तेज रफ्तार गाड़ियां जानलेवा साबित हो रही हैं। उत्तर प्रदेश और हरियाणा के NCR के इलाकों में दो बड़े हादसों में सात लोगों की मौत हो गई है। वहीं कई लोग घायल हो गए हैं। ये दोनों हादसे यमुना एक्सप्रेस-वे और केजीपी एक्सप्रेस-वे पर हुए।

पीछे से आए ट्राले ने कैंटर को टक्कर मारी, 4 की मौत

बल्लभगढ़ क्षेत्र के अंतर्गत कुंडली-गाजियाबाद-पलवल एक्सप्रेस-वे पर गांव शाहजहांपुर के पास सोमवार की रात 12 बजे कैंटर का टायर बदलते समय पीछे से आ रहे एक ट्राला ने टक्कर मारी दी, जिससे चार लोग नहीम निवासी एटा उत्तर प्रदेश, तालीम पुत्र रमजान, मौसीम पुत्र दीनू, पूर्ण पुत्र हरसी सभी निवासी भाकडौजी माहवा राजस्थान की मौत हो गई। ट्राला का चालक मौके से भाग गया।

थाना छांयसा पुलिस के एसएचओ राजबीर सिंह धनखड़ के अनुसार उपरोक्त सभी कैंटर में भेड़-बकरी भरकर राजस्थान से लाए थे और उत्तर प्रदेश की गाजीपुर मंडी में बेचने जा रहे थे। देर रात को रास्ते में कैंटर पंचर हो गया और टायर बदलने में लग गए।इस दौरान तेज गति से आए ट्राले ने टक्कर मार दी। चारों की मौत हो गई, जबकि रफीक नामक उनका एक साथ घायल हो गया।रफीक के बयान पर ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है और ट्राला को कब्जे में ले लिया है।

पुलिस के अनुसार चूंकि अभी ट्राला चालक फरार है, इसलिए दुर्घटना का कारण स्पष्ट कुछ नहीं कहा जा सकता, पर ऐसी आशंका है कि ट्राला चालक को नींद आ गई होगी और उसने नींद की झपकी में कैंटर को टक्कर मार दी। पुलिस के अनुसार रात को मौसम साफ था, इसलिए कोहरा दुर्घटना की वजह नहीं हो सकती।

दूसरे बड़े हादसे में ग्रेटर नोएडा में एक बार फिर यमुना एक्सप्रेस-वे पर रफ्तार का कहर देखने को मिला। तेज रफ्तार कार के केंटर में घुसने से महिला समेत तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि एक महिला अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है।

जानकारी के मुताबिक, थाना रबूपुरा क्षेत्र में तेज रफ्तार कार धीमी गति से चल रहे केंटर में जा घुसी। सड़क हादसा इतना भीषण था कि कार के परखच्चे उड़ गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह शवों को कार से बाहर निकाली। इसमें तीन लोगों की मौत हो चुकी थी, जबकि एक महिला बुरी तरह घायल है।