नई दिल्ली। दिल्ली सरकार और अधिकारियों के बीच टकराव थमने का नाम नहीं ले रहा है। सीएम अरविंद केजरीवाल कई मौकों पर अधिकारियों के रवैये पर सवाल उठा चुके हैं। इस बार विवाद की जड़ में एक वीडियो विज्ञापन है, जिसमें कहा गया है कि जब आप सचाई और ईमानदारी के रास्ते पर चलते हैं, तो ब्रह्मांड की सारी दृश्य और अदृश्य शक्तियां आपकी मदद करती हैं।'

दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार एक ओर जहां तीन साल पूरा होने पर 14 फरवरी को जश्न मनाने में जुटी है, वहीं उसे उसके अपने अधिकारियों ने ही जोर का झटका दे दिया है। दरअसल, केजरीवाल सरकार और अधिकारियों के बीच का टकराव एक बार फिर सामने आया है। इस टकराव के चलते AAP सरकार के दिल्ली में तीन साल पूरे होने के अवसर पर तैयार एक वीडियो विज्ञापन अटक गया है।

बताया जा रहा है कि हिंदी फिल्म 'ओम शांति ओम' में अभिनेता शाहरुख खान के एक डायलॉग पर आधारित इस एड को दिल्ली सरकार के विभागों ने हरी झंडी नहीं दी है।

एड की पंक्तियां शाहरुख की फिल्म 'ओम शांति ओम' से प्रेरित है। फिल्म में शाहरुख खान इस डायलॉग के जरिए दीपिका पादुकोण के प्रति अपना प्यार जाहिर करते हैं।

यह कहते हैं शाहरुख खान-

'अगर किसी चीज़ को दिल से चाहो, तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है।' अब दिल्ली सरकार के संबधित विभागों ने अरविंद केजरीवाल के इस विज्ञापन को सर्टिफाई करने से इनकार कर दिया है। कहा जा रहा है कि विज्ञापन के मसले को लेकर कल सीएम हाउस में मीटिंग भी हुई, लेकिन कोई हल नहीं निकला।

जानें पूरी बात-

जानकारी के मुताबिक, आगामी 14 फरवरी को दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार के तीन वर्ष पूरे हो रहे हैं। तीन साल पूरा होने पर जश्न की तैयारी के मद्देनजर AAP 'विकास यात्रा' निकाल रही है। इस दौरान यह यात्रा दिल्ली के विभिन्न इलाकों से होकर गुजरेगी। ऐसे में अपनी सरकार की उपलब्धियों को लेकर सीएम अरविंद केजरीवाल का एक वीडियो विज्ञापन बनाया गया है। यह विज्ञापन विकास यात्रा के दौरान दिखाया जाएगा।

तकरीनब एक मिनट का है वीडियो विज्ञापन-

पिछले तीन सालों में दिल्ली में भ्रष्टाचार में भारी कमी आई है। अब एक-एक पैसा जनता के विकास पर खर्च हो रहा है। बाधाएं बहुत आईं, पर आपके हक के लिए हम हर कठिनाई से लड़े। ईश्वर ने हर कदम पर साथ दिया। जब आप सचाई और ईमानदारी के रास्ते पर चलते हैं, तो ब्रह्मांड की सारी दृश्य और अदृश्य शक्तियां आपकी मदद करती हैं।

SC की गाइड लाइन बनी बड़ी वजह, केजरीवाल बोले- क्या भगवान इस लाइन को क्लियर करेंगे-

वीडियो विज्ञापन रोकने को लेकर विभागों ने सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन का हवाला दिया है। वहीं, आम आदमी पार्टी सरकार का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का हवाला देकर सीएम के इस संदेश को फंसाया गया है। वहीं, वीडियो विज्ञापन को लेकर अधिकारियों के रवैये पर प्रतिक्रिया देते हुए केजरीवाल ने कहा कि वह ब्यूरोक्रेसी से बहुत दुखी हैं। साथ ही उन्होंने कटाक्ष भी किया- 'क्या भगवान इस लाइन को क्लियर करेंगे?'