नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस के पूर्व नेता सज्जन कुमार की अपील पर सीबीआई को नोटिस जारी किया है। कांग्रेस के पूर्व नेता ने 1984 के सिख विरोधी दंगा मामले में दोषी ठहराए जाने के खिलाफ अपील दायर की है। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एसके कौल ने सोमवार को सज्जन कुमार की जमानत याचिका पर भी नोटिस जारी किया है।

73 वर्षीय पूर्व कांग्रेस नेता ने सुनाई गई उम्रकैद की सजा भुगतने के लिए 31 दिसंबर 2018 को निचली अदालत में समर्पण किया था। दिल्ली हाई कोर्ट ने उन्हें दोषी ठहराते हुए 17 दिसंबर को सुनाए गए फैसले में स्वाभाविक जीवन के शेष हिस्से के लिए जेल की सजा सुनाई थी। जिस मामले में सज्जन कुमार को दक्षिण पश्चिम दिल्ली में 1-2 नवंबर 1984 को दिल्ली छावनी के राजनगर पार्ट-1 में पांच सिखों के मारे जाने और एक गुरुद्वारा जलाए जाने के मामले में दोषी ठहराया गया है।

31 अक्टूबर 1984 को दो सिख अंगरक्षकों द्वारा तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या होने के बाद दंगे भड़क उठे थे। दोषी ठहराए जाने के बाद सज्जन कुमार ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था।