नई दिल्ली। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कृष्णकांत के बेटे ध्रुव ने भी दम तोड़ दिया है। मां-बेटे का अंतिम संस्कार एक साथ किए जाने की सूचना मिल रही है। मां-बेटे की मौत के बाद अस्पताल और पोस्टमार्टम हाउस पर हाई कोर्ट समेत कई प्रदेश के जजों का जमावड़ा लग गया है।

मौके पर हरियाणा पुलिस के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी मौजूद हैं। हाइकोर्ट के जस्टिस ग्रोवर एवम एडीजीपी पीके अग्रवाल भी मेदांता अस्पताल पहुंचे। हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली सहित कई प्रदेशों के जज मेदांता पहुंचे। जज कृष्णकांत की न्यायपालिका में बेहतर पहचान है।

हत्या की वजह स्पष्ट नहीं

डीसीपी ईस्ट एवं एसआईटी हेड सलोचना गजराज ने कहा कि अभी तक आरोपी ने हत्या की असली वजह नहीं बताई है। अभी टाइम लगेगा, हम इसकी रिमांड लेंगे। उन्होंने बताया कि आरोपी महिपाल मानसिक रूप से पिछले चार से पांच दिनों से परेशान था। कई दिनों से आरोपी सो नहीं पाया।

हालांकि, उसने अभी परेशानी का कारण नहीं बताया है। वह हिन्दू धर्म का है, लेकिन चर्च में भी जाता था। दूसरे धर्म को भी मानता था। आरोपी महिपाल के घर और पास से कोई दवा नहीं मिली है।

बुरा आदमी होने मोके पर कॉन्स्टेबल ने मां-बेटे को गोली मारने के बाद कहा था ये शैतान हैं और ये शैतान की मां। अभी तक पुलिस की हत्या की असली वजह तक नही पहुंच पाई है।

सुरक्षाकर्मी ने ही मारी थी गोली

बताते चलें कि अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश कृष्णकांत की पत्नी रेणु व बेटे ध्रुव को उनके सुरक्षाकर्मी महिपाल ने शनिवार दोपहर गोली मार दी। मां- बेटे उसके साथ सेक्टर 49 स्थित आर्केडिया शॉपिग कॉम्प्लेक्स (मॉल) में खरीदारी करने गए थे। दोनों जैसे ही मॉल से बाहर निकले, सुरक्षाकर्मी ने पहले ध्रुव के सिर पर गोली मारीं और फिर रेणू पर गोलियां बरसा दीं।

वारदात के बाद महिपाल ने जज के बेटे को कार में डालने का प्रयास किया, असफल होने पर दोनो को वहीं छोड़कर भाग निकला। रेणु और ध्रुव को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों की टीम दोनों का ऑपरेशन कर रही थी। पहले मां की मौत हो गई और अब बताया जा रहा है कि डॉक्टर बेटे ध्रुव को भी नहीं बचा सके।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने भी पुलिस महानिदेशक से वारदात की जानकारी ली है। हिसार के प्रीति नगर के रहने वाले कृष्णकांत लगभग दो साल से गुरुग्राम में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश के पद पर कार्यरत हैं। महेंद्रगढ़ जिले के गांव भूवारका निवासी सुरक्षाकर्मी महिपाल भी शुरू से ही उनके साथ था।

आरोपित बस एक ही बात बोलता रहा

वारदात की सूचना वायरल होते ही एक्शन में आई गुरुग्राम पुलिस ने शहर की नाकेबंदी करके महिपाल को ग्वालपहाड़ी के नजदीक से शाम पांच बजे के करीब गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में वह केवल एक ही बात बोल रहा है कि उसने गोली मार दी, उसने गोली मार दी। लेकिन, क्यों मारी इसके बारे में नहीं बता रहा है।

गोली मारने के बाद ध्रुव के सिर पर मारा बूट

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक आरोपित महिपाल ने मां- बेटे को गोली मारने के बाद ध्रुव के चेहरे पर पैर से मारा। वह उसे गालियां भी दे रहा था। महिपाल ने ही न्यायाधीश कृष्णकांत को फोन करके बताया कि उनके बेटे व पत्नी को गोली मार दी है। उसी ने पुलिस को भी सूचना दी।