नई दिल्ली। पति की मारपीट से तंग आकर एक किन्नर ने दिल्ली महिला आयोग में शिकायत दर्ज कराई है। किन्नर ने अपने पति पर मारपीट करने, घर से निकालने और दूसरी शादी करने का आरोप लगाया है। पति और ससुराल वालों की प्रताड़ना की शिकायत लेकर किन्नर पहले पुलिस के पास पहुंची थी, लेकिन पुलिस थाने से उसे भगा दिया गया। पुलिस के इस रवैये के बाद किन्नर ने महिला आयोग में शिकायत दर्ज कराई।

किन्नर ने बताया कि, वह चार से एक आदमी के साथ रिलेशनशिप में थी। दो साल पहले ही दोनों ने शादी कर ली, जिसके बाद दोनों साथ रहने लगे। लेकिन, शादी के तीन महीने बाद ही पति का व्यवहार बदल गया और पति उसके साथ मारपीट करने लगा। कुछ दिनों पहले ही उसे पता चला कि पति ने दूसरी शादी कर ली है, जब उसने इस बात का विरोध किया तो पति ने मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया। पति की शिकायत लेकर वह दिल्ली पुलिस के पास पहुंची थी, जहां उसकी शिकायत दर्ज नहीं की गई और उसे भगा दिया गया। इसके बाद वह मदद के लिए दिल्ली महिला आयोग पहुंची।

महिला आयोग को किन्नर ने बताया कि, उसके पति ने उसे इतना पीटा था कि उसे अस्‍पताल में भर्ती होना पड़ा था। पति और उसके परिजन उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। उसने आयोग को अपनी शादी के कागजात दिखाए और मदद की मांग की। इसके बाद दिल्ली महिला आयोग ने किन्नर की मदद करते हुए फौरन नन्द नगरी थाने के एसएचओ को नोटिस भेजकर एफआईआर दर्ज करने को कहा। इतना ही नहीं आयोग ने दिल्ली राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के द्वारा शिकायतकर्ता को उसके पति के खिलाफ कोर्ट में केस दर्ज करवाने के लिए मुफ्त सरकारी वकील भी मुहैया कराया। इस पूरे मामले में आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने कहा, 'दिल्ली महिला आयोग किन्नरों की मदद करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगा। हमारे कोशिश रहेगी कि पीड़िता को न्याय मिले और उसके पति के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाए।'