नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस जहां अलग अलग मुद्दों को उछालकर अन्य राजनीतिक दलों को घेरने में लगी है। वहीं इस बीच कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने ही अब पार्टी के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है। दरअसल प्रियंका चतुर्वेदी ने पार्टी में उन गुंडों को तवज्जों मिलने की बात कही है जो महिलाओं के साथ बदसलूकी करते हैं।

Tweet में प्रियंका ने लिखा है, 'बड़े दुख की बात है कि गुंडों को कांग्रेस में जगह दी जा रही है।' उन्होंने कहा है कि पार्टी के लिए मैंने गालियां और पत्थर खाए हैं, लेकिन उसके बावजूद पार्टी में रहने वाले नेताओं ने ही मुझे धमकियां दीं। जो लोग धमकियां दे रहे थे, वह बच गए हैं। इनका बिना किसी कड़ी कार्रवाई के बच जाना काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रियंका ने एक पत्रकार के ट्वीट पर रीट्वीट करते हुए लिखा है।

पत्रकार ने कांग्रेस के एक नोटिस की तस्वीर भी पोस्ट की है जिसमें कहा गया है कि प्रियंका ने हाल ही में कुछ नेताओं पर अपने साथ बदतमीजी करने की शिकायत की थी। कांग्रेस के पत्र में कहा गया है कि प्रियंका की शिकायत पर पार्टी ने नेताओं को निलंबित कर दिया था। पत्र में आगे कहा गया है कि कांग्रेस महासचिव पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया के दखल पर प्रदेश इकाई ने नेताओं को फिर से उनके पद पर बहाल करने का फैसला लिया है।

यह मामला पिछले साल सितंबर के आसपास का बताया जा रहा है। राफेल विवाद को लेकर कांग्रेस केंद्र सरकार पर हमलावर थी और देशभर में पार्टी के नेता मोदी सरकार के खिलाफ प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे। उत्तर प्रदेश के मथुरा में जब प्रियंका चतुर्वेदी पार्टी की तरफ से राफेल विमान सौदे पर प्रेस कांफ्रेंस करने आई थीं, तब स्थानीय कार्यकर्ताओं ने प्रियंका के साथ बदसलूकी की थी। प्रियंका मूल रूप से उत्तर प्रदेश की हैं और अब उनका परिवार मुंबई में रहता है।