बालासोर (ओडिशा)। ओडिशा से सांसद चुनकर आए प्रताप सारंगी को मोदी कैबिनेट में राज्‍यमंत्री का पद मिला है। लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा और खासतौर पर नरेंद्र मोदी को पूरे देश में जबरदस्त जन समर्थन मिला। कई ऐसे नेता सांसद चुनकर आए हैं, जो वास्तव में जमीन से जुड़े हैं और बेहद सादगी के साथ जनता के बीच रह कर काम कर रहे हैं। ऐसे ही एक सांसद हैं ओडिशा की बालासोर सीट से जीते प्रताप चंद्र सारंगी। सारंगी को 'ओडिशा का मोदी' कहा जाता है। उन्होंने बीजू जनता दल (BJD) के रविंद्र कुमार जैना को एक लाख से ज्यादा वोटों से हराया। 2014 में जैना ने सारंगी को हराया था, लेकिन इस बार यह शख्स संसद पहुंचने में कायमाब रहा। सारंगी के सांसद चुने जाने के बाद सोशल मीडिया पर उनकी जबरदस्त चर्चा है। खासतौर पर ट्विटर पर उनकी तस्वीरें वायरल हो रही हैं। जानिए इनके बारे में -

प्रताप चंद्र सारंगी का जन्म ओडिशा के एक बेहद गरीब परिवार में हुआ। वे शुरू से धार्मिक प्रवृत्ति के थे और साधु बनना चाहते थे। नीलगिरी के फकीर मोहन कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद वे साधु बनने के लिए रामकृष्ण मठ चले गए। वहां लोगों को पता चला कि उनकी मां विधवा हैं और परिवार में कोई नहीं है तो सलाह दी कि वे घर जाएं और मां की सेवा करें।

सारंगी ने शादी नहीं की और अपना पूरा जीवन जनसेवा में लगा दिया है। ये एक छोटे से घर में रहते हैं और साइकिल पर चलते हैं। इनके पास सम्पत्ति के नाम पर कुछ नहीं है। परिवार में माताजी थीं, जिनका बीते साल निधन हो चुका है।

संसदीय क्षेत्र में सारंगी की पहचान ऐसे शख्स के रूप में हैं, जो धर्म और आस्था से जुड़ा है और निःस्वार्थ भाव से लोगों की भलाई के लिए काम करता है। ये बच्चों को पढ़ाते हैं और उन्हें जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा देते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी सारंगी से बहुत प्रभावित हैं। मोदी जब भी ओडिशा आते हैं, उनसे जरूर मिलते हैं। मोदी की पहल के बाद ही सारंगी ने राजनीति में कदम रखा। इससे पहले वे 2004 और 2009 में नीलगिरी विधानसभा से विधायक रह चुके हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में जरूर हार मिली, लेकिन इस बार दिल्ली पहुंचने में कामयाब रहे।