नई दिल्ली। एग्जिट पोल जारी होने के बाद एक तरफ जहां NDA खेमे में उत्साह है, वहीं विपक्षी दल एग्जिट पोल को खारिज कर रहे हैं। इस बीच, सियासी हलचल बढ़ गई है। सोमवार को अखिलेश यादव ने मायावती से मुलाकात की। इस बीच, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह 21 मई को एनडीए नेताओं के साथ मुलाकात कर सकते हैं और उनके साथ भोज का आयोजन भी कर सकते हैं। वहीं, चुनाव प्रचार के समय से गैर-भाजपाई दलों को एक जुट करने में जुटे आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री और टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू का अलग-अलग नेताओं से मिलने का क्रम जारी है। वे नतीजों से पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात कर सकते हैं। नायडू इससे पहले राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल, मायावती और अखिलेश यादव से मिल चुके हैं। इस बीच, नाडयू ने मतगणना का प्रक्रिया और ईवीएम पर सवाल उठाया है।

नायडू ने चुनाव आयोग से कहा है कि काउंटिंग प्रोसेस से जुड़ी कई समस्याएं हैं। इन्हें दूर करने के लिए चुनाव आयोग को कदम उठाना चाहिए। इसके प्रिंटर्स के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है, कंट्रोल पैनल बदले जा सकते हैं। ईवीएम को लेकर तरह-तरह की अफवाहें चल रही हैं। आयोग इसका जवाब दें।

इस बीच खबर यह भी है कि यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 23 मई से पहले विपक्षी दलों की बैठक बुलाई थी, जिसे अब 24 मई तक के लिए टाल दिया गया है।

सोनिया से मिलने दिल्ली नहीं आ रहीं मायावती: बसपा सुप्रीमो मायावती को लेकर खबर है कि वे दिल्ली नहीं आ रही हैं। पहले कहा गया था कि मायावती सोमवार को दिल्ली में रहेंगी, जहां उनके सोनिया गांधी से मिलने का कार्यक्रम था। बसपा की ओर से गया है कि दिल्ली में बहनजी की कोई बैठक नहीं है। वह लखनऊ में रहेंगीं।