नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण की वोटिंग के साथ ही रविवार शाम विभिन्न एजेंसियों ने एग्जिट पोल जारी कर दिए। अधिकांश एग्जिट पोल के मुताबिक, देश में एक बार फिर मोदी सरकार बनने जा रही है। पंजाब को छोड़ दें तो कांग्रेस की हालत पूरे देश में खराब है। आम आदमी पार्टी तो कहीं भी खाता खोलती नजर नहीं आ रही है। कांग्रेस ने अपनी बंद मुट्ठी खोलते हुए पश्चिमी यूपी की जिम्मेदारी प्रियंका गांधी को सौंपी थी, लेकिन उनका जादू भी नहीं चला। पढ़िए तमाम एग्जिट पोल की अब तक की बड़ी बातें -

भाजपा को सबसे बड़ा नुकसान यूपी में हुआ है। अधिकांश सर्वे के मुताबिक, भाजपा को 80 में से करीब 50 सीटें मिलती दिख रही हैं। पिछली बार 73 सीटें मिली थीं। भाजपा के नुकसान वाली सीटें सपा-बसपा गठबंधन को मिल सकती हैं। कांग्रेस की हालत कितनी खराब है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अमेठी और रायबरेली के अलावा कोई दूसरी सीट उसे मिलती नहीं दिख रही है। (पूरा सर्वे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

पश्चिम बंगाल में दीदी को नुकसान होता दिख रहा है। भाजपा ने पिछली बार 2 सीटें जीती थीं, अब ये आंकड़ा बढ़कर 11 से 14 हो सकती है। एक सर्वे में तो भाजपा को 18 से 26 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं। ममता बनर्जी को पिछली बार 34 सीटें मिली थीं। इस बार उनका आंकड़ा घटकर 26 से 28 सीट रह सकता है। चार में से तीन सर्वे के मुताबिक, वाम दल खाता नहीं खोल पाएंगे। कांग्रेस को 2 से तीन सीट मिल सकती है। (पूरा सर्वे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

दिल्ली की सातों लोकसभा सीटें भाजपा जीत सकती है। यहां से सबसे बड़ी खबर यह है कि आम आदमी पार्टी को एक भी सीट नहीं मिल सकती है। कांग्रेस को एक या दो सीट मिलने के आसार एग्जिट पोल में दिखाया गया है। (पूरा सर्वे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

एग्जिट पोल के मुताबिक, मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, गुजरात के हिंदी बेल्ट में भाजपा और मोदी का दबदबा कायम रह सकता है। खासतौर पर मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में जीत के बाद भी लोकसभा चुनावों में कांग्रेस को प्रदर्शन कमजोर रह सकता है। हालांकि नजीता 23 मई, गुरुवार को ही पता चलेगा।

दक्षिण भारतीय राज्यों की बात करें तो तमिलनाडु में सीन बदल सकता है। पिछली बार एआईएडीएमके को बढ़त मिली थी, इस बार डीएमके को ज्यादा सीटें मिलती दिख रही है। वहीं नतीजों से पहले ही गैर-भाजपाई सरकार बनाने के लिए विपक्षी दलों को एकजुट कर रहे आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की पार्टी की हालत खराब है। टीडीपी को 8 और YSRC को 17 सीटें मिल रही हैं। तेलंगाना में टीआरएस को 12, बीजेपी को 1 सीट मिलती नजर आ रही है। (पूरा सर्वे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

...अब आगे क्या

ये एग्जिट पोल हैं। नतीजे 23 मई, गुरुवार को आएंगे। यदि लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे एग्जिट पोल के मुताबिक आते हैं तो आने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा को बड़ा फायदा हो सकता है। इस साल महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव होने हैं।