दम दम। पश्चिम बंगाल में जारी भाजपा और तृणमूल के घमासान के बीच गुरुवार को मथुरापुर में रैली करने के बाद पीएम मोदी ने दम दम में जनसभा की। इस दौरान उन्होंने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और उनके भतीजे पर निशाना साधते हुए कहा कि 'दीदी सुन लो, ये पश्चिम बंगाल आपकी और आपके भतीजे की जागीर नहीं है। ये मां भारती का एक अटूट अंग है।'

इसके पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मथुरापुर में रैली की। इस दौरान उन्होंने सीएम ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि दीदी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की प्रशंसा करते थकती नहीं हैं। उन्होंने कहा कि दीदी बंगाल के बच्चों को जेल में डाल देंती हैं, लेकिन घुसपैठियों को उन्होंने खुली छूट दे रखी है। मोदी ने कहा कि दीदी को देश की चिंता नहीं हैं। वह बंगाल में टोलाबाजी करती हैं। पीएम ने कहा की गुंडागर्दी के दम पर दीदी आम लोगों का जीवन मुश्किल बना रहीं है।

रैली को संबोधित करने के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दीदी ने मुझे जेल भेजने की भी धमकी दी है। दीदी सरेआम धमकी पर उतर आईं है। मोदी ने कहा कि TMC के गुंडे हिंसा फैला रहे हैं। उन्होंने विद्यासागर जी की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया। वहां सीसीटीवी कैमरा लगे हुए थे। जिस तरह प्रदेश सरकार ने नारदा और सारदा घोटालों के सबूत मिटाए उसी तरह सरकार इस घटना के तथ्य मिटाना चाहती है। मेरी मांग है कि इस मामले में सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

बता दें कि लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का मतदान रविवार को होगा और इस चरण में पश्चिम बंगाल में भी मतदान होना है। मतदान से पहले यहां बिगड़े हालात को देखते हुए चुनाव आयोग ने राज्य में समय से पहले ही प्रचार पर रोक लगाने का ऐलान किया है। इसके बाद सत्ता और विपक्ष दोनों आयोग और एक दूसरे पर हमला बोल रहे हैं। इस बीच प्रधामंत्री मोदी की पश्चिम बंगाल के दमदम में रैली को देखते हुए एसपीजी ने बंगाल के डीजीप को खत लिखकर पीएम मोदी की सुरक्षा बढ़ाने के लिए कहा है।

आयोग के निर्देशानुसार आज रात तक पश्चिम बंगाल में प्रचार खत्म हो जाएगा और उससे पहले प्रधानमंत्री मोदी दमदम में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। अपनी इस सभा को लेकर प्रधानमंत्री ने बड़ा बयान दिया है।

प्रदानमंत्री ने यूपी के मऊ में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए बंगाल का जिक्र किया और कहा कि कुछ महीने पहले पश्चिमी मेदिनीपुर में मेरी रैली में TMC ने अराजकता फैलाई गई थी। इसके बाद ठाकुरनगर में तो ये हालत कर दी गई थी कि मुझे अपना संबोधन बीच में छोड़कर मंच से हटना पड़ा था। आज दमदम में मेरी रैली है, देखते हैं दीदी ये रैली होने देती हैं या नहीं।

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी लोकसभा चुनाव के दौरान बंगाल में हो रही हिंसा को लेकर लगातार ममता बनर्जी पर निशाना साध रहे हैं। पीएम मोदी आज दमदम में चुनावी सभा को संबोधित करने वाले हैं।

इससे पहले उन्होंने कहा कि, बुरी तरह हार देखकर सपा-बसपा सहित ये तमाम महामिलावटी आज पूरी तरह से पस्त है। बेंगलुरु में एक दूसरे का हाथ पकड़ के फोटो खिंचवाई थी। जैसे ही प्रधानमंत्री पद की बात आई तो सब अपना-अपना दाव लेकर अपनी-अपनी ढपली बजाने लग गए। कोई 8 सीट, कोई 10 सीट, कोई 20-22 और कोई 35 सीट वाला प्रधानमंत्री बनने के सपने देखने लगा।

मोदी ने विपक्ष को निशाना बनाते हुए कहा कि, सर्जिकल स्ट्राइक का विरोध, एयर स्ट्राइक का विरोध, घुसपैठियों की पहचान का विरोध, नागरिकता कानून का विरोध, तीन तलाक के कानून का विरोध, OBC आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का विरोध, कदम कदम पर मोदी का विरोध करना सिर्फ यही इनका मॉडल है।