भोपाल। साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का वंदे मातरम् को लेकर दिया बयान एक बार फिर चर्चा में आ गया। बुधवार को भोपाल से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि 'इस देश में रहते हैं तो वंदेमातरम् कहना होगा, इस देश में पीते हैं, यहां की हर सुविधा का उपयोग करते हो, देश में जन्म लेकर उसके ही नहीं हुए तो वह विश्व में किसी के नहीं हो सकते, न ही ईश्वर के हो सकते हैं।"

इस बयान को लेकर जब साध्वी प्रज्ञा से पूछा कि ऐसे बयानों को लेकर कई बार आपत्तियां आती हैं तो उनका कहना था कि हम जिस देश में रहते हैं तो उसकी वंदना नहीं करना चाहिए क्या? वंदे मातरम् की अनिवार्यता के सवाल पर उन्होंने कहा कि सिर्फ भारत को ही मां कहा जाता है, किसी और देश को नहीं। मैं जनता से पूछना चाहती हूं कि क्या मैं गलत हूं?

एनआईए कोर्ट के फैसले पर कहा, सत्य की जीत है

एनआईए कोर्ट के फैसले पर साध्वी प्रज्ञा भारती ने कहा कि यह निश्चित था, सत्य और धर्म की विजय है। कांग्रेस ने जिस तरह के षडयंत्र किए और अभी भी कर रही है, उसमें यही फैसला होना था।