भोपाल। बैतूल लोकसभा सीट को छोड़कर दूसरे और तीसरे चरण के चुनाव वाली अन्य सीटों पर प्रत्याशियों की संख्या ज्यादा होने के कारण चुनाव आयोग को 23 मई को मतगणना के लिए दो-दो बैलेट यूनिट लगानी पड़ेगी। हालांकि 22 अप्रैल को नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख है। इसके बाद ही तय होगा कि कितने प्रत्याशी मैदान में रहेंगे।

मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए प्रदेश में नामांकन भरने का सिलसिला दो दिन पहले शुरू हुआ है। इस चरण में आठ लोकसभा सीट मुरैना, भिंड, ग्वालियर, गुना, सागर, विदिशा, भोपाल और राजगढ़ में चुनाव होने हैं।

इसके लिए दो दिन में 13 प्रत्याशियों ने 15 नामांकन दाखिल किए हैं। जबकि दूसरे चरण में सात लोकसभा सीट टीकमगढ़, दमोह, खजुराहो, सतना, रीवा, होशंगाबाद और बैतूल में चुनाव होना है। इन क्षेत्रों के लिए 10 अप्रैल तक 142 प्रत्याशियों ने 198 नामांकन दाखिल किए हैं। जिनमें टीकमगढ़ क्षेत्र से 19 प्रत्याशियों ने 22, दमोह से 18 ने 31, खजुराहो और सतना से 25-25 प्रत्याशियों ने क्रमश: 29 और 39, रीवा से 26 ने 32, होशंगाबाद से 18 ने 31 और बैतूल से 11 ने 14 नामांकन दाखिल किए हैं।