भोपाल( स्टेट ब्यूरो)। प्रदेश की खजुराहो संसदीय सीट इन दिनों खासी चर्चा में है। भारतीय जनता पार्टी ने यहां से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वीटो पर विष्णुदत्त शर्मा को प्रत्याशी बनाया है पर स्थानीय नेताओं को शर्मा की दावेदारी रास नहीं आ रही है। लोकसभा क्षेत्र के कई दिग्गज नेताओं ने खजुराहो में सोमवार को बैठक की और असंतुष्ट भाजपाइयों की तरफ से एक साझा स्थानीय प्रत्याशी खड़ा किए जाने का फैसला किया। सुरक्षा की दृष्टि से असंतुष्ट तीनों जिलों से एक-एक नेता का नामांकन पत्र भरवा रहे हैं, ताकि बाद में किसी ने दबाव में नाम वापस ले लिए तो एक प्रत्याशी को सभी स्थानीय लोग समर्थन दे सकें।

भाजपा सूत्रों के मुताबिक खजुराहो में हुई बैठक में पूर्व विधायक कटनी सुकिर्ती जैन, पूर्व विधायक चंदला विजय बहादुर सिंह बुंदेला, सुधीर शर्मा, भाजपा के तीन बार जिलाध्यक्ष जयप्रकाश चतुर्वेदी पन्ना, जिला पंचायत पन्ना के अध्यक्ष रविराज यादव और जिला सहकारी बैंक पन्ना के पूर्व अध्यक्ष संजय नगाइच मौजूद थे। पूर्व मंत्री ललिता यादव मऊरानीपुर में होने के कारण शामिल नहीं हुईं। इन नेताओं का दावा है कि यादव भी स्थानीय प्रत्याशी चाहती हैं।

विंध्य विकास प्राधिकरण के पूर्व पदाधिकारी महेंद्र यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष घासीराम पटेल, कटनी के पूर्व एमएलए राजू पोद्दार का भी समर्थन होने का दावा किया है। ये लोग पूर्व मंत्री कुसुम महदेले को भी अपने साथ जोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। बैठक में तय किया गया कि संसदीय क्षेत्र के तीन जिले कटनी, पन्ना और छतरपुर से एक-एक प्रत्याशी का नामांकन भरवाया जाए। मयंक गौतम को भी साझा प्रत्याशी बनाकर खड़ा करने पर विचार हुआ। नेताओं ने कहा कि पार्टी लंबे समय से स्थानीय नेताओं की उपेक्षा कर रही है। ऐसे हालात अब हम बर्दाश्त नहीं करेंगे।

भाजपा की डैमेज कंट्रोल पर बैठक आज

प्रदेश में भाजपा प्रत्याशियों के खिलाफ बने बगावत के माहौल को संभालने के लिए मंगलवार को एक बैठक बुलाई गई है। इसमें शामिल होने के लिए राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन भोपाल आ रहे हैं। पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह, प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सस्त्रबुद्धे भी इस बैठक में शामिल होंगे। पार्टी सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में डैमेज कंट्रोल को लेकर अब तक की गई कवायद और आगे की रणनीति पर विचार किया जाएगा।