सिवनी (ब्यूरो)। शिवराज सिंह चौहान खुद को किसान का बेटा कहते हैं, लेकिन उन्हीं के राज में किसानों के पेट में लात और छाती में गोली मारने का काम हुआ। ना तो किसानों का कर्जा माफ हुआ और ना ही अन्य सुविधाएं दी गई। ये बात प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कही। वे बालाघाट सिवनी लोकसभा सीट से पार्टी के प्रत्याशी के पक्ष में सभा करने सिवनी विधानसभा के दिघौरी गांव पहुंचे थे। सीएम कमलनाथ ने अपने 12 मिनट के भाषण में शिवराज सरकार के 15 साल और मोदी सरकार के 5 साल के कामों की जमकर आलोचना की।

कमलनाथ दोपहर करीब 1.15 बजे दिघौरी पहुंचे। सबसे पहले वे गुरूधाम दिघौरी में स्थित एशिया के सबसे बड़े स्फटिक शिवलिंग के दर्शन और पूजन करने पहुंचे। विधि विधान से पूजन करने के बाद वे सभा स्थल पहुंचे जहां उन्होंने चुनावी सभा को संबोधित किया।

उन्होंने कहा- मैं पड़ोसी होने के नाते आपसे बात करने आया हूं। आने वाली 29 अप्रैल को आप अपने भविष्य के लिए बटन दबाएंगे। पार्टी के प्रत्याशी को वोट देकर जिताने की बात कहते हुए सीएम ने सिवनी के विकास की जिम्मेदारी ली। उन्होंने छिंदवाड़ा में हुए विकास का उदाहरण देते हुए कहा- भाजपा की सरकार ने 15 सालों में सिवनी को उपेक्षित रखा है। विकास के नाम पर यहां कुछ नही हुआ है। मौजूद जनता से उन्होंने कहा कि यदि आप हमसे रिश्ता जोड़ोगे तो सिवनी में विकास का इतिहास बनाएंगे।

कमलनाथ ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस पार्टी में सोच का बड़ा अंतर है। हम नौजवानों, किसानों, छोटे छोटे व्यापारियों, मजदूरों के बारे में सोचते हैं जबकि भाजपा ठेकेदार और बड़े व्यापारियों के बारे में सोचती है। हमारी सरकार बनते ही बेरोजगारों को 6 हजार रुपए महीने दिए जाएंगे। इससे उनके बच्चे अच्छे पढ़ेंगे और अच्छे कपड़े पहनेंगे। बाजार में इनके द्वारा खरीदी करने से व्यापारियों को भी लाभ मिलेगा।