मुंबई। मुंबई के बोरीवली स्टेशन के पास चुनावी रैली में उस वक्त माहौल गरमा गया, जब उत्तर मुंबई लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी व अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर की रैली में 'मोदी-मोदी' के नारे लगने लगे। इसके बाद दोनों पक्षों के समर्थकों में जोरदार भिड़ंत हुई। मातोंडकर ने तुरंत इस मामले की शिकायत पुलिस से की और शिकायत पर उनको चुनाव तक के लिए पुलिस सुरक्षा मुहैया करा दी गई।

एक प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार, उत्तर मुंबई लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी मातोंडकर बोरीवली स्टेशन के पास चुनावी रैली कर रही थीं। तभी वहां कुछ भाजपा कार्यकर्ता मोदी-मोदी के नारे लगाने लगे। इसके बाद कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं में जोरदार भिड़ंत हो गई।

मातोंडकर ने मीडिया से चर्चा में बताया कि आचार संहिता के खुलेआम उल्लंघन से मैं स्तब्ध हूं। मेरी जान को खतरा है। सत्तारूढ़ भाजपा भय का माहौल बना रही है। उन्होंने कहा कि इस घटना से मुझे गहरी मानसिक पीड़ा हुई। मैं इस घटना की चुनाव आयोग से भी शिकायत करूंगी। मातोंडकर ने ट्वीट भी किया कि मैं उन लोगों का पूरे दमखम से मुकाबला करूंगी जो मुझे मैदान से हटाना चाहते हैं। मैं शिवाजी महाराज की मिट्टी से हूं और पीछे नहीं हटूंगी।

'मोदी-मोदी' का नारा लगाने वालों को बताया दैनिक रेलयात्री

उत्तर मुंबई से गोपाल शेट्टी भाजपा के मौजूदा सांसद व पार्टी प्रत्याशी हैं। शेट्टी ने कहा कि 'मोदी-मोदी' का नारा लगाने वाले भाजपा कार्यकर्ता नहीं, दैनिक रेलयात्री थे। रेलयात्री प्रधानमंत्री नरेंद्र दी के नेतृत्व और नीतियों से प्रभावित थे, इसलिए भाजपा का समर्थन कर रहे थे।

मातोंडकर को दी गई पुलिस सुरक्षा

डीसीपी डीसीपी एसएस निशानदार ने बताया कि मातोंडकर से हमें एक शिकायत मिली है। हमने उनके लिए चुनाव तक पुलिस सुरक्षा की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि नारा लगाने वालों में भाजपा कार्यकर्ताओं के शामिल होने के कोई प्रमाण नहीं मिले। इस घटना में शामिल लोग रेलयात्री थे।