भुवनेश्वर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को अहमदाबाद में मतदान करने के बाद एक बार फिर चुनाव प्रचार के लिए निकल गए। उनके दौरे की शुरुआत ओडिशा से हुई जहां उन्होंने भुवनेश्वर और केंद्रपाड़ा में चुनावी रैली को संबोधित किया।

अपने संबोधन में मोदी ने कहा कि ओडिशा का विकास करने के बजाय BJD के नेता कोयले की खदानों से लेकर चिटफंड तक में नोट बटोरने में ही जुटे रहे। गरीबों को लूटने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। ओडिशा के विकास के लिए हमारे पास एक व्यापक प्लान है। यहां के सागर तट का पूरा उपयोग यहां के जीवन स्तर को ऊपर उठाने में किया जाएगा। इसकी नींव हम बीते 5 वर्ष में तैयार कर चुके हैं।

मोदी बोले, ओडिशा में चांदीपुर तट, बालासोर तट, जलेश्वर जैसे अनेक पर्यटन स्थान हैं। लेकिन 20 साल से उपेक्षा के शिकार हैं। इसके अलावा यहां अनेक हैरिटेज स्थान हैं, मंदिर हैं। इनके विकास के लिए भी केंद्र सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। ओडिशा को दशकों की नाकार और भ्रष्ट व्यवस्था से मुक्ति के लिए ही आज यहां का जन-जन विकास का कमल छाप डबल इंजन लगाने के लिए बेताब है।

पीएम बोले, भ्रष्टाचार ही वो दानव है जिसने देश के सबसे समृद्ध राज्यों में से एक ओडिशा की जनता को गरीब बनाए रखा। BJD ने भ्रष्टाचार के दानव को दाना-पानी दे कर विकराल बना दिया है। देश के भविष्य के लिए कितना बड़ा काम हुआ है ये मैं आपको बताना चाहता हूं। आज मोबाइल से लेकर मिसाइल तक हर चीज सैटेलाइट से कंट्रोल होती है। अगर किसी ने हमारी सैटेलाइट पर हमला कर दिया तो सब खत्म हो जाएगा।

मोदी बोले, अटल बिहारी वाजपेयी जी ने जो कहा था वो इस बार ओडिशा में दिखता है। अंधेरा छटेगा, सूरज निकलेगा, कमल खिलेगा। अब उड़ीसा में कमल खिलने वाला है। आप सबने देखा कि अभी कुछ दिन पहले कैसे बालासोर का नाम इतिहास में दर्ज हुआ है। मिशन शक्ति यानि सिर्फ 3 मिनट में स्पेस में सैटेलाइट को नष्ट करने की क्षमता भारत ने हासिल की है। यहीं बालासोर से ये टेस्ट किया गया था।

इससे पहले केंद्रपाड़ा में भी उन्होंने चुनावी सभा को संबोधित किया और कहा कि हम 'सबका साथ सबका विकास' के मंत्र को लेकर आगे बढ़ रहे हैं। कोई भेदभाव नहीं, कोई तुष्टिकरण नहीं, कोई सिफारिश और कच्चे-पक्के काम नहीं। जो हो रहा है, वो सबके लिए हो रहा है। मछुआरों को आर्थिक मदद दी जा रही है। पहली बार मछुआरों को किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा दी गई है। किसानों के लिए ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि नाम की एक बहुत बड़ी योजना भी हमने बनाई है। इसके अंतर्गत ओडिशा के लाखों किसानों को हर वर्ष सीधे बैंक खाते में पैसा दिया जाना तय हुआ है।